जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार वीरवार से बारिश की संभावना बन रही है। यह संभावना राजस्थान क्षेत्र में फिर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण बन रही है। ऐसे में आगामी दो दिनों तक प्रदेश में तेज हवा के साथ बारिश हो सकती है। ऐसे में किसान मौसम को देखते हुए फसलों की बिजाई करें। हिसार कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिकों ने पूर्वानुमान जारी किया है। जिसके अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के कारण आए इस बदलाव के चलते 6 व 7 मई को बारिश की संभावना बनी है। इस कहीं-कहीं धूल भरी हवा व गरज चमक के साथ बारिश होगी। मौसम 8 मई तक परिवर्तनशील बने रहने की संभावना है।

बुधवार को अधिकतम तापमान में 38 डिग्री सेल्सियस रहा। इससे गर्मी का फिर से अहसास हुआ। वही न्यूनतम तापमान में मामूली 1 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 26 डिग्री रहा। मौसम विभाग के अनुसार बारिश होती है तो तापमान में कमी आ सकती है। इससे बढ़ी हुई गर्मी से एक बार राहत मिलने की उम्मीद है। हालांकि अभी तक लू नहीं चली है। ऐसे में कपास की फसल को ज्यादा नुकसान नहीं हो रहा। गत सप्ताह कुछ जगह हल्की बूंदाबांदी होने से एक बार फोरी तौर पर राहत मिल गई थी। अब फिर से बारिश होती है तो तापमान कम रहेगा। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि जब तक तापमान 42 डिग्री सेल्सियस को पार नहीं करता, तब तक लू चलने की संभावना बिल्कुल नहीं है।

-------------

जिले में 55 हजार हेक्टेयर में हुई नरमे की बिजाई :

जिले में अब तक 55 हजार हेक्टेयर में नरमे की बिजाई हुई है। कृषि विभाग के अनुसार 15 मई तक नरमे की बिजाई की जा सकती है। ऐसे में यह रकबा 75 से 80 हजार हेक्टेयर तक पहुंच सकता है। इस बार किसान मूंगफली व बाजरे की खेती भी जिले में अधिक करेंगे। इसकी वजह है कि गत वर्ष नरमे का उत्पादन बहुत कम हुआ था। जबकि मूंगफली की फसल में लागत कम आती है उत्पादन मौसम अनुकूल हो तो 10 से 15 क्विटल प्रति एकड़ हो जाता है। जो नरमे के मुकाबले कहीं अधिक है।

------------

6 व 7 को बारिश की संभावना : खिचड़

एक और पश्चिमी विक्षोभ के आंशिक प्रभाव से बुधवार रात्रि से राज्य में फिर से मौसम में बदलाव होने की संभावना है जिससे राज्य के ज्यादातर जिलों में 6 व 7 मई को बादलवाई व बीच -बीच में तेज धूलभरी हवाएं चलने, गरज चमक के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है।

- एमएल खिचड़, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक, एचएयू, हिसार।

Edited By: Jagran