जागरण संवाददाता, फतेहाबाद:

इस साल मौसम अपना अलग-अलग रंग दिखा रहा है। 25 मार्च तक सर्दी का अहसास रहा तो उसके बाद गर्मी ने तेवर दिखाने शुरू कर दिए है। रविवार को शाम आसमान में काले बादल छा गए जिससे किसान चितित दिखे। अगले तीन से चार दिनों के अंदर गेहूं की कटाई भी शुरू होने वाली है। अगर इस समय बरसात होती है तो किसानों की मेहनत पर पानी फिर जाएगा।

रविवार सुबह से ही तेज धूप व लू से लोग परेशान दिखे। अधिकतम तापमान 37 डिग्री व न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। लू का ही असर था कि बाजार सुनसान हो गए।

---------------------------

दोपहर बाद बदला मौसम

दोपहर बाद मौसम एकाएक बदल गया। तेज हवाओं के साथ काले बादल छा गए। इन बादलों को देखकर किसानों की सांसें भी अटक गई। वहीं मौसम विभाग भी मान रहा है कि 10 अप्रैल तक ऐसा ही मौसम रहेगा। अगर ऐसा ही रहता है तो किसानों की छह महीने की मेहनत पर पानी फिर जाएगा। किसान रामनिवास, सुरेश, भूप सिंह, महेश ने बताया कि अगर इस समय थोड़ी सी बरसात के साथ आंधी आती है तो गेहूं की पक्की पकाई फसल जमीन पर बिछ जाएगी। जिससे उत्पादन पर असर पड़ेगा। वहीं मजदूर भी नहीं मिलेंगे। जिसकी ऐवज में किसानों को कंबाइन से गेहूं कटाई करवानी पड़ेगी। इसके बाद तूड़ी के रेट भी अधिक हो जायेगे। किसानों के अनुसार अप्रैल माह में पहली बार ऐसा हो रहा है कि बरसात की आशंका मौसम विभाग जता रहा है।

----------------------------------

अप्रैल महीने में 2019 में ये रहा था तापमान

तिथि अधिकतम न्यूनतम

1 अप्रैल 35 17

2 अप्रैल 35 18

3 अप्रैल 36 21

4 अप्रैल 38 22

5 अप्रैल 37 22

6 अप्रैल 38 23

7 अप्रैल 37 23---------------------------------

आगामी 10 अप्रैल तक ऐसा ही मौसम बदलने वाला है। इसलिए किसान मौसम देखकर ही अपनी फसल की कटाई करें। सरसों की कढ़ाई जल्द से जल्द कर ले। वहीं फसलों में पानी की सिचाई रोक दे। अगले पांच छह दिनों के अंदर गेहूं की कटाई भी शुरू हो जाएगी।

डा. बलवंत सहारण

उपकृषि निदेशक फतेहाबाद।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस