जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

पिछले सवा दो महीनों से लॉकडाउन चल रहा है। इसके चलते स्कूल नहीं लग रहे। लेकिन निजी स्कूल संचालक उसके बाद ही विद्यार्थियों के अभिभावकों से स्कूल फीस के साथ वैन का किराया भी मांगना शुरू कर दिया। इससे परेशान होकर फतेहाबाद ब्लाक के अनेक अभिभावकों ने पेरेंट्स एसोसिएशन का गठन किया। जिसकी पहली बैठक पुराना बस स्टैंड स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय पार्क में हुई। इस दौरान अनेक पेरेंट्स पहुंचे। सभी ने एक स्वर में कहा कि जब तक स्कूल नहीं लग रहे तो फीस किसी बात की। इस दौरान उन्होंने नो स्कूल नो फीस का नारे के साथ बैठक संपन्न हुई। बैठक के उपरांत एसोसिएशन के सदस्यों ने खंड शिक्षा अधिकारी सुरेश शर्मा के मार्फत उपायुक्त व मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर प्रशासन ने एहतियात के तौर पर पुलिस बल भी तैनात किया हुआ था। बैठक में उपस्थित एडवोकेट सुशील बिश्नोई, गुलशन होटलवाले व पार्षद प्रतिनिधि सौरभ मेहता सहित कई अभिभावकों ने जोर देकर कहा कि हमें अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में दाखिल करवाने का निर्णय लेना चाहिए। जाने माने समाजसेवी श्रवण ने कहा कि हमें ये एकता बरकरार रखनी होगी। अंत में निर्णय लिया गया कि लॉकडाउन अवधि तक अभिभावक कोई फीस जमा नहीं करवाएंगे। उन्होंने कहा कि ये गलत है निजी स्कूल संचालक स्कूल फीस के अलावा वैन का किराया भी मांगने लगे। उन्होंने मांग कि सरकार जनहित में निजी स्कूलों की मनमानी रोक लगाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस