संवाद सूत्र, टोहाना :

पेंशन बहाली संघर्ष समिति का प्रतिनिधिमंडल टोहाना खंड प्रधान ओमप्रकाश लांग्यान के नेतृत्व में रविवार को टोहाना से जजपा विधायक देवेन्द्र बबली से मिला और ज्ञापन दिया गया।

संघर्ष समिति ने विधायक से मांग की गई कि पुरानी पेंशन नीति बहाल करने की उनकी मांग को विधानसभा सत्र में उठाया जाए। विधायक देवेन्द्र बबली ने कर्मचारियों को उनकी इस मांग को लेकर सीएम से बातचीत करने का आश्वासन दिया।

समिति के राज्य महासचिव ऋषि नैन ने कहा कि राजनीतिक दलों ने पुरानी पेंशन की बहाली को घोषणापत्र में शामिल किया था इसलिए संघर्ष समिति विधायकों को ज्ञापन दे रही है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2006 के बाद राजकीय सेवा में आए सभी कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बंद कर दी गई है। नई पेंशन योजना लागू कर दी गई। नई पेंशन योजना शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव से प्रभावित है। नई पेंशन के अधीन सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेंशन 500 से 1500 रुपए बनी है जो पर्याप्त नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने कर्मचारियों की सुध नहीं ली तो आंदोलन का रास्ता अपनाएंगे। जिला प्रधान रमेश जांडली व प्रदेश ऑडिटर विजय भुना ने कहा कि हरियाणा प्रदेश के सभी 90 विधायकों को समिति अपना मांग पत्र सौंपेंगी, क्योंकि विधानसभा चुनाव में लगभग सभी राजनीतिक पार्टियों ने सरकार में आने के उपरांत पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा अपने घोषणा पत्र में रखा था जिसमें मुख्य रूप से सरकार की सहयोगी पार्टी जननायक जनता दल तथा मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस शामिल हैं। इन्होंने इस मुद्दे को घोषणा पत्र में जगह दी थी तथा लगभग हर राजनीतिक मंच से पेंशन बहाली का आश्वासन कर्मचारियों को दिया था। समिति विधायकों को ज्ञापन सौंपकर मांग कर रही है कि आगामी शीतकालीन सत्र में विधायक पेंशन बहाली की मांग को विधानसभा में पुरजोर तरीके से उठाएं तथा कर्मचारियों के हित में पुरानी पेंशन बहाल करवाने में अपना योगदान दे।

इस अवसर पर संघर्ष समिति की राज्य कार्यकारिणी से महासचिव ऋषि नैन, राज्य ऑडिटर विजय भुना, जिला प्रधान रमेश जांडली, महेंद्र शर्मा, विकास, जसवंत, सूरजमल, तेजप्रीत, कृष्ण लंबोरिया, कुलवंत कांटीवाल, कर्मबीर पेटवाड़, विनोद सिल्ला, राजेन्द्र, बलविदर लेक्चरर, रविन्द्र यादव, अशोक अटेला, सुखबीर पुनिया, मास्टर भारत भुषण, दलबीर सिंह मादुवाना, वीरेंद्र पूनिया, विजय नागपाल सहित अनेक सदस्य शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस