जागरण संवाददाता,झज्जर : सरकार द्वारा बजट में एलआइसी ( भारतीय जीवन बीमा निगम) के 10 फीसद शेयर प्राइवेट लोगों को बेचने की घोषणा के विरोध में मंगलवार को कर्मचारियों ने कोसली रोड स्थित कार्यालय में विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। साथ ही उन्होंने मांग उठाते हुए कहा कि सरकार अपने इस फैसले को वापस लें। इस फैसले से एलआइसी कर्मचारियों व उपभोक्ताओं को नुकसान होगा।

एलआइसी कर्मचारी राजेंद्र, जगबीर सिंह, कैलाश कुमार, बलवान सिंह, अमित पूनिया, राजेश, बलराम जांगड़ा, शैलेंद्र सिंह आदि मंगलवार को कार्यालय में एकत्रित हुए। उन्होंने कहा कि सरकार एलआइसी को निजी हाथों में देने के उद्देश्य से यह निर्णय ले रही है। अभी तो सरकार ने 10 फीसद शेयर निजी लोगों को देकर शुरूआत की गई है। लेकिन बाद में पूर्णतया: निजी कर दिया जाएगा। जिसका कर्मचारियों को नुकसान झेलना पड़ेगा। कर्मचारियों को मिलने वाले लाभ नहीं मिलेंगे। अगर एलआइसी निजी या अर्ध सरकारी होती है तो आम जनता का विश्वास भी उठने लगेगा। साथ ही उपभोक्ताओं को होने वाले लाभ भी नहीं मिल पाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस