जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

महिला कांग्रेस की जिला प्रधान कृष्णा पूनिया ने मंडियों में अगले दो दिन तक गेहूं की खरीद न होने और जिले की

मंडियों में पहले से खरीदी अस्सी प्रतिशत फसल के उठान न होने को प्रदेश सरकार की प्रशासनिक विफलता, व्याप्त भ्रष्टाचार और किसान विरोधी रवैये का जीता जागता प्रमाण बताया है। उन्होंने कहा कि किसान हितैषी होने का झूठा राग अलापने वाली भाजपा-जजपा सरकार की पोल मंडियों में चल रही गेहूं की फसल की खरीद न होने से

खुल गई है। एक तरफ किसानों की फसल की खरीद नहीं हो रही, और जो खरीद भी हो जाए तो उसका भी उठान नहीं किया जा रहा, जिससे मंडियां गेहूं से अट गई है। हालात यह

हैं कि अगर जल्द ही खरीद करके उठान नहीं हुआ तो किसानों को सड़कों पर गेहूं की ढेरियां लगानी पड़ेंगी।

पुनिया ने कहा कि मौजूदा भाजपा-जजपा सरकार ने वायदा तो यह किया था कि किसानों की फसल तुरंत खरीदी जाएगी। किसान मंडियों में अपनी फसल की चौकीदारी कर रहा है और देश व प्रदेश के चौकीदार गहरी नींद सोए हुए हैं। उन्होंने कहा कि फतेहाबाद जिले की सभी मंडियों में किसानों की गेहूं की फसल 30 लाख क्विंटल ही खरीदी गई है, जिसमें से केवल 20.53 प्रतिशत फसल का ही उठान हुआ है। उन्होंने बताया कि गेहूं की खरीद सुनिश्चित करने का सरकार ने भरोसा दिया था। अब वह पूरा नहीं हो रहा है। किसान इससे खासे परेशान हैं। मौसम की मार भी झेलनी पड़ रही है। यह सबसे बड़ी परेशानी है। इसका समाधान किया जाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप