जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर आंदोलनकारियों द्वारा 18 फरवरी को भट्टू और जाखल में रेल रोकी जाएगी। इसके अलावा संयुक्त मोर्चा द्वारा 14 फरवरी को कैंडल मार्च और 16 को भाईचारा दिवस भी मनाया जाएगा।

इन कार्यक्रमों को सफल बनाने को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक पटवार भवन फतेहाबाद में जगतार सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में जिला स्तर पर मोर्चा घटकों में आपसी तालमेल बढ़ाने व सभी कार्यक्रम सांझे तौर पर करने तथा यूनियनों को आपसी प्रतिस्पर्धा से बचकर मजबूत एकता कायम करने पर जोर दिया गया। सांझे कार्यक्रमों में सभी संगठनों को संयुक्त मोर्चा बैनर का ही प्रयोग करने, तहसील व गांव स्तर पर भी संयुक्त किसान मोर्चा कमेटियां बनाने बारे भी विचार किया गया।

संयुक्त किसान मोर्चा के जिला संयोजक जगतार सिंह पूर्व सरपंच ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर 14 फरवरी को पुलवामा के शहीदों श्रद्धांजलि देने के लिए सभी शहरों व गांव स्तर पर मशाल जुलूस व कैंडल मार्च निकाला जाएगा। इसके अलावा 16 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन किसान मसीहा चौधरी छोटूराम जयंती भाईचारा दिवस के रूप में मनाई जाएगी और इस दिन हर तहसील, ब्लॉक स्तर पर सेमिनार व सद्भावना सभाएं आयोजित की जाएंगी। राष्ट्रीय आह्वान पर 18 फरवरी को जिले के भट्टू व जाखल में रेल रोकने आंदोलन होगा। इस दिन रतिया, कुलां, भूना, टोहाना व जाखल के किसान जाखल में तथा फतेहाबाद व भट्टू तहसील के किसान भट्टू में दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक रेल रोकेंगे।

इस दौरान खेती बचाओ संघर्ष समिति नेता राजविदर सिंह चहल, धर्मपाल फुलां, किसान सभा नेता रामस्वरूप ढ़ाणी गोपाल, विष्णु दत्त भट्टू, शहीद भगत सिंह किसान यूनियन से रमनदीप सिंह रम्मी, परमवीर सिंह चिलेवाल, खेत मजदूर यूनियन से रामचंद्र सहनाल पूर्व जिला पार्षद, जय किसान आंदोलन से रामचंद्र करनौली, किसान महासभा से सुखविदर सिंह सहित अनेक लोग शामिल हुए।

Edited By: Jagran