संवाद सूत्र, भूना :

एक ओर जहां प्रदेश सरकार बिजली बिल की नियमित अदायगी करने वालों को बिलों में रियायत देकर प्रेरित करने का प्रयास कर रही है, वहीं दूसरी ओर दक्षिण हरियाणा विद्युत निगम भूना के अधिकारियों की लापरवाही के चलते विद्युत उपभोक्ताओं को मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। निगम के अधिकारियों के अनोखे कारनामे के चलते भूना कस्बे में नियमित समय पर बिलों की अदायगी करने वाले उपभोक्ताओं को लाल अथवा पीले बिल थमा दिए गए हैं। जिसके चलते उपभोक्ताओं में निगम की कारवाई के प्रति रोष है।

दरअसल, निरंतर बिलों का समय पर भुगतान करने वालों को नीले रंग के बिल थमाए जाने का प्रावधान है, जबकि पीले व लाल रंग के बिल डिफाल्टर उपभोक्ताओं को सौंपे जाते हैं, जिन पर समय पर अदायगी न करने की चेतावनी भी अंकित होती है। ऐसे में पहली बार में ही लाल अथवा पीले बिल थमाने के बाद उपभोक्ताओं का रोष स्वभाविक है।

----------------------

ये बोले उपभोक्ता

उपभोक्ता गुलशन चोपड़ा, राजपाल कंबोज, नरेश कुमार, विकास कुमार, सतीश कुमार, अमित कुमार, सुरेंद्र सिंह आदि ने बताया कि वे हमेशा से ही विद्युत निगम के निर्धारित समय के अनुसार अपने घरेलू व व्यवसायिक बिजली बिलों की अदायगी समय पर करते हैं। कई बार तो समय से पूर्व ही बिलों का भुगतान करके किसी भी प्रकार की बाधा से मुक्त हो जाते हैं। लेकिन बावजूद निगम की ओर से इस बार उन्हें पीले अथवा लाल रंग के वे बिल थमा दिए गए हैं, जो डिफाल्टर उपभोक्ताओं को थमाए जाते हैं। आमतौर पर दो से चार माह तक लगातार बिलों की अदायगी न करने वाले उपभोक्ताओं को पीले तथा 6 माह तक लगातार बिलों की भुगतान न करने पर लाल रंग के बिल थमाए जाते हैं, जो उपभोक्ताओं के लिए चेतावनी का कार्य करते हैं कि इस बिल की अदायती न होने की सूरत में कनेक्शन काटा जा सकता है। --------------------------------------------

270 रुपये के बिल में ही कनेक्शन काटने का अल्टीमेटम

हैरत की बात तो यह है कि कुछ उपभोक्ताओं के पीले बिलों में 270 रुपये का बिल थमाया गया है, जबकि कइयों को महज 250 रुपये के बिल की एवज में पीला बिल थमा दिया गया। जबकि आमतौर पर लंबे समय तक बिल अदा न करने की सूरत में ये बिल सौंपे जाते हैं, जिस पर शीघ्र बिल अदा किए जाने की चेतावनी भी प्रमुख तौर पर अंकित होती है।

--------------------------------

उनके पास इस संदर्भ में कोई जानकारी नहीं है, लेकिन फिर भी यदि कोई शिकायत मिलती है तो जांच की जाएगी।

-भागीरथी खिच्ची

एसडीओ, बिजली निगम, भूना।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस