जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

स्वच्छ सर्वेक्षण से पूर्व अधिकारी डोर टू डोर कूड़ा उठाने के टेंडर को लेकर सजग थे। लेकिन अब तो डीसी से अनुमति मिलने के बाद भी इस कार्य को नहीं कर रहे है। डीसी ने दो दिन पहले ही टेंडर लगाने की अनुमति दे दी थी। लेकिन अधिकारियों ने अभी तक खाका भी तैयार नहीं किया है। अगर ऐसा ही काम चलता रहा तो आने वाले एक महीने के अंदर भी यह टेंडर नहीं लगेगा। हालांकि अधिकारी दावा कर रहे है कि इस महीने टेंडर लगाकर इसे खोल दिया जाएगा।

नगरपरिषद के अधिकारियों ने शहर में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए पिछले साल दिसंबर में टेंडर लगाया था। टेंडर में शर्तें भी रखी गई थी। इस साल 1 जनवरी को यह टेंडर खुलना था। लेकिन पार्षदों ने हंगामा कर इसे रद करवा दिया। इस टेंडर को लेकर प्रधान की कुर्सी पर संकट आ गया था। लेकिन डीसी ने बैठक लेकर आदेश दिए थे कि जिस शर्त से उन्हें एतजार है उसे हटा दे। एक शर्त हटाने के बाद पार्षदों ने टेंडर लगाने की अनुमति दे दी थी। यह फाइल डीसी के पास भेजी गई। डीसी ने रविवार शाम को ही इस पर हस्ताक्षर करके नप कार्यालय में भेज दी थी।

--------------------------------------

अधिकारी पड़े सुस्त

जब तक डोर टू डोर कूड़ा उठाने का टेंडर नहीं लगेगा तब तक शहर में सफाई व्यवस्था अच्छी नहीं हो सकती। कर्मचारियों की संख्या कम होने के कारण पूरे शहर में सफाई भी नहीं हो रही है। पहले डीसी के हस्ताक्षर के बिना फाइल अटकी थी। जब अनुमति मिल गई तो अब अधिकारी काम नहीं कर रहे है। अधिकारी खुद मान रहे है कि अगर टेंडर जल्द नहीं रखा तो यह योजना ही फेल ना हो जाए।

--------------------------------

पार्षदों की बनेगी निगरानी कमेटी

अब जो टेंडर होगा उसकी निगरानी के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी। जिसमें 10 सदस्य होंगे। जिसमें से सात सदस्य पार्षद होंगे। सभी की सहमति से इन पार्षदों का नाम लिया जाएगा। यह कमेटी पूरी नजर रखेगी और गड़बड़ी मिलने के बाद टेंडर को रद भी कर सकती है। टेंडर के अनुसार शर्त पूरी नहीं करती तो एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

--------------------------------------------------------------

इन शर्तो पर होगा टेंडर

सुविधा संख्या राशि

टाटा एस 25 7,50000

ट्रैक्टर ट्राली 04 1,77,240

ई-रिक्शा 05 1,00000

जेसीबी 01 86280

स्वीपर 70 8,37,200

टोटल 19,50,720

----------------------------------------------------

कंपोस्टिग के लिए यह तय की राशि

सुविधा संख्या राशि

जेसीबी 1 1,72,560

ट्रैक्टर ट्रॉली 2 88620

स्वीपर 45 5,38,200

टोटल 7,99,380

---------------------------------------------

डीसी से तो अनुमति मिल गई है। एक दो दिनों के अंदर टेंडर लगा दिया जाएगा। पिछले कुछ दिनों से मीटिग चलने के कारण दिक्कत आ रही थी। लेकिन अब जल्द ही टेंडर लगा दिया जाएगा।

जितेंद्र कुमार,

ईओ, नगरपरिषद, फतेहाबाद।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस