जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

एमसी कालोनी में रविवार को पिछले 16 सालों से चल रहा अवैध कब्जा पुलिस ने लेकर मालिक को सौंप दिया है। इस दौरान भारी पुलिस बल भी तैनात रहा। किसी प्रकार की घटना को रोकने के लिए आशु गैस तक का प्रबंधन किया गया था। पुलिस को देखकर कब्जाधारियों की हिम्मत भी नहीं हुई कि वे रोष जता सके। कब्जा कार्रवाई हटाने की कार्रवाई तीन घंटे तक चली। घर से सामान उठाकर दूसरी तरफ रखवा दिया। वहीं दीवार निकालकर मकान पर कब्जा दिलवा दिया।

रविवार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार विजय कुमार, थाना प्रभारी यादविद्र सिंह भारी पुलिस बल के साथ एमसी कालोनी में पहुंच गए। इस महीने 8 मार्च रविवार को भी टीम गई थी। लेकिन कोर्ट ने इस प्लाट पर खसरा नंबर 68 लिखा गया था। लेकिन यह प्लाट नंबर था। जिसके बाद यह कब्जा नहीं हटाया जा सका। जिसके बाद यह मामला फिर कोर्ट में चला गया। नप अधिकारियों ने रिकॉर्ड दिया कि यह प्लाट नंबर 68 है। जिसके बाद कोर्ट ने फिर से आदेश दिया कि कब्जा हटाया जाए।

--------------------------

ये था मामला

गांव काजलहेड़ी निवासी जगदीश ने कोर्ट में याचिका दायर की थी कि केहर सिंह के परिवार ने मकान पर अवैध कब्जा कर रखा है। पिछले 32 वर्षो से उस जगह पर आबाद केहर सिंह के परिवार के सदस्यों ने बताया कि यह जगह उनकी है। उनके पास 5 मरले की रजिस्टरी है तथा बाकी जो 5 मरले जगह है उसकी नगर परिषद में असेस्मेंट केहर सिंह के नाम हैं। जब जगह की पैमाइश शुरु की तो उस जगह में 5 मरले की जगह को बताया गया जिसकी रजिस्टरी केहरसिंह के नाम हैं जोकि भट्ठा कालोनी के क्षेत्र मे हैं। बाकी 5 मरले की जगह एमसी कॉलोनी के क्षेत्र में आती है जोकि लाल डोरे में आती है। इसकी कहीं भी रजिस्टरी नहीं है। पिछले 16 सालों से यह मामला कोर्ट में विचाराधीन था। कोर्ट ने जगदीश चंद्र के हक में फैसला सुनाया।

--------------------------

कब्जाधारियों ने गुहार लगाई कि कब्जा ना छुड़वाये

पुलिस व कोर्ट की कार्रवाई के बाद कब्जाधारी सकते में आ गये। उन्होंने कब्जा न लेने के लिए गुहार भी लगा। उन्होंने जगदीश से भी बात की। लेकिन उन्होंने कहा कि पिछले 16 सालों से उन्होंने परेशान कर रखा है। ऐसे में कब्जा छोड़ना पड़ेगा। परिवार के लोगों ने तीन दिनों का समय भी मांगा। लेकिन पुलिस व ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने कहा कि वे किसी भी कीमत पर आज कब्जा खाली करवाकर रखेंगे। जिसके बाद पुलिस की निगरानी में दीवार भी निकाल दी गई और कब्जा ले लिया।

--------------------------

कोर्ट के आदेश पर कब्जा ले लिया है। पिछले कई दिनों से चक्कर काट रहे थे। लेकिन आज पुलिस की मौजूदगी में निशानदेही करवाकर कब्जा लेकर परिवार को दे दिया गया है। कब्जाधारियों ने किसी प्रकार का विरोध तक नहीं किया।

विजय कुमार,

तहसीलदार, फतेहाबाद।

---------------------------------

हमारी पूरी पुलिस मौजूद थी। कब्जा ले लिया गया। किसी ने किसी प्रकार का विरोध नहीं किया है। हमने कब्जा लेकर मालिक को सौंप दिया है जो कोर्ट के आदेश थे।

यादविद्र सिंह,

थाना प्रभारी, फतेहाबाद।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस