जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

बुधवार को जिले में कोरोना के 240 नए केस सामने आए। पिछले नौ दिनों से लगातार 100 से अधिक कोरोना के मरीज आ रहे हैं। वहीं बुधवार को जिले में तीन लोगों ने दम भी तोड़ दिया है। इस महीने तो पूरा रिकॉर्ड ही तोड़ दिया है। पिछले साल सितंबर महीने में कोरोना के 1300 मरीज आए थे और 22 लोगों की जान गई थी। लेकिन इस महीने के 21 दिनों में 2065 नए मरीज आ गए हैं और मरने वालों का आंकड़ा 29 पहुंच गया है।

इस महीने रिकवरी रेट 30 फीसद तक आ पहुंचा है। । जिले में अब कोरोना मरीजों का आंकड़ा सात हजार को पार कर गया है। जिले में अब कोरोना मरीजों की संख्या 7148 हो गई है। ठीक होने वालों का आंकड़ा 5427 हो गया है। जिले में अब एक्टिव केसों की संख्या 1569 हो गई है तो मरने वालों का आंकड़ा 152 हो गया।

---------------------------

केस : 1

टोहाना खंड के गांव डांगरा की 60 वर्षीय महिला दो दिनों से बीमार थी। उसे बुखार आदि की शिकायत थी। ऐसे में उसे नागरिक अस्पताल टोहाना में भर्ती करवाया गया था। बुजुर्ग महिला की जांच की तो वह कोरोना पॉजिटिव मिली और उसे टोहाना के अस्पताल में बने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया। लेकिन बुधवार सुबह बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया।

--------------------------

केस : 2

फतेहाबाद के तहसील चौक निवासी 69 वर्षीय बुजुर्ग की कोरोना से मौत हो गई। तीन दिन पहले उसे सांस लेने में दिक्कत हुई थी। परिजन उसे अस्पताल लेकर आए। जहां वह कोरोना पॉजिटिव मिला और अग्रोहा रेफर कर दिया था। बुधवार दोपहर उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।

-----------------------

केस : 3

जिले में तीसरी मौत टोहाना शहर के 48 वर्षीय व्यक्ति की हुई है। बताया जा रहा है कि उसे बुखार आदि की दिक्कत थी। जिसे स्वजन उसे हिसार के निजी अस्पताल में लेकर गए। जहां उसकी जांच की तो वह कोरोना पॉजिटिव मिला और उसका इलाज चल रहा था। बुधवार दोपहर उनकी मौत हो गई।

----------------------------------------------------------------------

आज से सरकारी अस्पताल में सामान्य ओपीडी बंद

जिले में कोरोना के मरीज बढ़ने व स्वास्थ सेवाएं कमजोर होने के बाद जिला प्रशासन ने नागरिक अस्पताल में सामान्य ओपीडी बंद कर दी है। अब सभी डाक्टर कोरोना मरीजों की देखभाल में लग गए है। जिले में डॉक्टरों की कमी पहले से ही थी। ऐसे में यह कदम उठाया गया है। अब नागरिक अस्पताल में केवल आपातकालीन स्थिति में आने वाले मरीजों की जांच होगी। जांच करने से पहले उसका कोरोना टेस्ट किया जाएगा। वहीं स्वास्थ्य विभाग ने अपील की है कि अगर सामान्य मरीज है तो वो अस्पताल में ना आए। ऐसे में अब आम लोगों को अपना इलाज करवाने के लिए निजी अस्पतालों में जाना पड़ेगा। इस समय अस्पताल में दंता रोग विशेष, नाक-कान, आंखों की जांच, फिजिशियन सहित अनेक ओपीडी होती थी। हर दिन करीब 500 ओपीडी अस्पताल में हो रही थी, लेकिन अब यह सामान्य ओपीडी बंद रहेगी।

----------------------------------------------------------------------

13 अप्रैल के बाद की स्थिति

तिथि मरीज मिले

13 अप्रैल 240

14 अप्रैल 128

15 अप्रैल 149

16 अप्रैल 130

17 अप्रैल 197

18 अप्रैल 127

19 अप्रैल 202

20 अप्रैल 158

21 अप्रैल 240

-----------------------------

इन आंकड़ों पर डालें नजर

अप्रैल महीने में अब तक आए कोरोना के मरीज : 2065

अप्रैल महीने में ठीक हुए मरीज : 640

अप्रैल महीने के 21 दिनों में रिकवरी रेट : 30.99

अप्रैल महीने में मरने वालों का आंकड़ा : 29

मार्च महीने में मिले थे कोरोना के मरीज : 354

मार्च महीने में कोरोना से मौत : 04

---------------------------------

जिले में बुधवार को 1526 को लगी कोरोना वैक्सीन

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है वहीं वैक्सीनेशन का काम भी तेज कर दिया है। बुधवार को जिले में 1526 लाभार्थियों को वैक्सीन लगाई गई। जिले के 50 सेंटरों में वैक्सीनेशन अभियान चलाया गया। बुधवार को 1090 लाभार्थियों ने प्रथम वे 436 लाभार्थियों ने दूसरी कोरोना वैक्सीन लगवाई। बुधवार को अवकाश होने के बाद भी अभियान जारी रहा। स्वास्थ्य विभाग ने सभी स्टाफ कर्मचारियों की छुट्टी रद कर दी गई है।

---------------------------------

जिले में बुधवार को कोरोना के 240 नए केस आए तो तीन की जान भी गई है। कोरोना संक्रमण बढ़ने का मुख्य कारण लोगों द्वारा लापरवाही बरतना है। लोगों से अपील है कि बिना किसी कारण घर से बाहर ना निकले। अगर ऐसा करेंगे तो हम इस महामारी अप अंकुश लगा सकते है।

डा. विष्णु मित्तल, जिला महामारी अधिकारी फतेहाबाद।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप