संवाद सहयोगी, टोहाना :

10 फरवरी को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर एक वर्ष से 19 वर्ष आयु के बच्चों व युवाओं को कृमि नाशक दवा खिलाने को लेकर बुधवार को नागरिक अस्पताल में एसएमओ डा. एचएस सागु के निर्देशन में प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूल हैल्थ टीम के नोडल अधिकारी डा. कु दीप सिंह, फार्मासिस्ट संदीप कुमार व एएनएम पक्षिला ने आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर, एएनएम व स्वास्थ्य कर्मियों को कृमिनाशक दवा खिलाने के बारे में विस्तार से जानकारी दी। वहीं उन्होंने निर्देश दिये कि वह बच्चों को दवा भोजन के उपरांत ही दे, खाली पेट दवा ना खिलाये। फार्मासिस्ट संदीप कुमार ने बताया कि 10 फरवरी को 24463 बच्चों को दवा खिलाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके लिए आंगनवाड़ी, सरकारी व निजी स्कूलों, कालेज, सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थान के साथ-साथ बस स्टैंड व रेलवे स्टेशन पर ट्रांजिट बूथ बनाये गये है। जिसके लिये 30 आशा वर्कर, 33 आंगनवाड़ी वर्कर, 13 स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ सदस्य डयूटी देंगे।

एसएमओ डा. एचएस सागु ने बताया कि 10 फरवरी को बाकि बचे बच्चों को 17 फरवरी को स्वास्थ्य टीमें फिर से कृमिनाशक दवा खिलाने का काम करेगी। उन्होंने बताया कि यह दवा बच्चों के पेट में कीड़ों को नष्ट करती है। क्योंकि बच्चों के पेट में कीड़ों द्वारा इन्फेक्शन होने से वह अनिमिया का शिकार हो जाते है। उन्होंने बताया कि इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस