संवाद सूत्र, कुलां :

गांव खनौरा में स्थित राजकीय प्राथमिक पाठशाला शिक्षा मंदिर की बजाए, इन दिनों गंदगी से बदहाल है। यहां दूषित जल निकासी अवरुद्ध होने से गांव का दूषित पानी स्कूल परिसर में जमा हो रहा है। लिहाजा स्कूल के आसपास का वातावरण गंदगी युक्त है। बच्चों को मजबूरन इस गंदे पानी व कीचड़ से गुजर स्कूल में प्रवेश करना पड़ता है। स्थिति ये बनी है कि जहां नौनिहालों को स्कूल जाने से डर लगता है। बच्चों के परिजन अपने जिगर के टुकड़ों को साथ लेकर दूषित पानी के बीच से होकर उन्हें स्कूल पहुंचाते हैं। ऐसी स्थिति में जलभराव से मच्छर मक्खियों का प्रकोप होने से स्कूली बच्चों व गुरुजनों को बीमारी लगने का भी भय बना है।

ग्रामवासी लाल सिंह, सुरजा, बलबीर सिंह, गुरबाज सिंह व जरनैल आदि ने बताया कि गांव के स्कूल की बाहरी सड़क निर्माण के अभाव में लंबे समय से कच्ची पड़ी है, वहीं गांव में समुचित निकासी व्यवस्था भी नहीं है। नतीजन स्कूल परिसर में सड़क दूषित पानी व कीचड़ से लबालब है। उन्होंने कहा कि स्कूल जाने का ये पथ कीचड़ से अटा होने से स्कूली बच्चों को मुसीबत में डाल रहा है। इससे छोटे बच्चों के अभिभावकों को उनके साथ आकर नौनिहालों को अपने कंधे पर उठाकर स्कूल पहुंचाना पड़ता है। वहीं बड़े बच्चें व अध्यापकगण भी मुश्किल से स्कूल पहुंचते है, इससे स्थिति ये बनी है कि कई बार कीचड़ में गिरने से बच्चें चोटिल हो जाते हैं, जिससे उनके स्कूल बैग, ड्रेस तथा किताबें तक खराब हो जाती है।

-------------------------

कई बार शिकायत दे चुके है नहीं हो रहा समाधान

गांव के स्कूल परिसर में जलभराव की इस स्थिति से बच्चों के साथ- साथ ग्रामीण भी परेशान हैं। पंचायत ने इस संदर्भ में संबंधित अधिकारियों को पूरी स्थिति से अवगत कराया है, अपितु अभी तक समस्या जस की तस बनी हुई है।

- भीम सिंह सरपंच, प्रतिनिधि गांव खनौरा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस