जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

जिले में अक्सर धान की खरीद 25 सितंबर से शुरू हो जाती है। इस बार भी शुरू हो जाती, लेकिन बरसात होने के कारण 10 दिनों के बाद मंडियों में धान की खरीद शुरू हो गई। पिछले दिनों आई बरसात के कारण फसलों पर प्रभाव पड़ने के साथ ही खेतों में पानी भरा पड़ा है। ऐसे में कंबाइन आदि भी नहीं चल सकती। इसके अलावा आगामी दिनों में बरसात होने की संभावना के बाद किसान धान की फसल नहीं निकाल रहे है। इस बार मंडी व खरीद केंद्रों पर जिला प्रशासन खुद नजर रखेंगा। इसके लिए सभी मंडी के गेट पर सीसी कैमरे लगवाने के आदेश दिए है। अगर ऐसा हो जाता है तो मंडी में जो भी समस्या आती है वो भी समय पर दूर हो सकेगी।

-------------------------------

जिला उपायुक्त ने ली अधिकारियों की बैठक

धान, बाजरा और मूंग फसलों की खरीद की तैयारियों की समीक्षा करते उपायुक्त महावीर कौशिक ने निर्देश दिए कि सभी अनाज मंडियों व फसल खरीद केंद्रों के मुख्य द्वार पर सीसीटीवी कैमरें लगवाना सुनिश्चित करें। बारदाना, नमी मात्रा यंत्र सहित अन्य उपकरणों का उचित प्रबंध रखें। उपायुक्त ने जिला में फसल खरीद करने वाली एजेंसियों, मार्केटिग बोर्ड सहित संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। फसल में निर्धारित मात्रा से ज्यादा नमी होने पर उसे खरीदा नहीं जाएगा। उन्होंने किसानों से आग्रह करते हुए कहा कि वे अपनी फसल को सुखाकर ही अनाज मंडियों व खरीद केंद्रों में लेकर आएं, ताकि उन्हें फसल बेचने में कोई दिक्कत न आए।

------------------------------------

38 केंद्रों पर होगी धान की खरीद

जिला में धान की खरीद के लिए सात मार्केट कमेटियों और 31 खरीद केंद्र बनाए गए है। इन केंद्रों पर धान की खरीद की जाएगी। सभी मार्केट कमेटियां सभी खरीद केंद्रों पर सभी आवश्यक पुख्ता प्रबंध पूर्ण कर लें। मंडियों में बिजली, पानी और सफाई की समुचित व्यवस्था की जाए। बारिश के मौसम को देखते हुए मंडियों में तीरपाल की अतिरिक्त व्यवस्था रखी जाए, ताकि बारिश में फसल ना भीगे। मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की फसल ही सरकार द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी। किसान को मंडी में बेचने पर किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी।

---------------------------------

72 घंटे में होगा उठान

खरीद एजेंसियों को निर्देश दिए कि मंडी में फसल खरीद होने के 72 घंटे में किसानों को फसलों का भुगतान कर दिया जाए। प्राइवेट एजेंसियों द्वारा अब तक 1509 धान वैरायटी की खरीद की गई है। जिसमें टोहाना में 12 हजार क्विटल, रतिया में एक हजार क्विटल, जाखल में 1300 क्विटल, फतेहाबाद में 365 क्विटल धान शामिल है। एक अक्टूबर से सरकारी धान की खरीद की जाएगी, जिसके लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। बैठक में एसडीएम राजेश कुमार, भारत भूषण कौशिक, चिनार चहल, डीएफएससी विनीत गर्ग, डीएमईओ चरण सिंह, एसडीओ मुकेश सिगला आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran