जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

शहर में बनी सीसी सड़कों को अब दोबारा नहीं बनाया जाएगा बल्कि नई तकनीक मास्टिक एस्फाल्ट से बनाया जाएगा। यह तकनीक बड़े-बड़े शहरों में इस्तेमाल की जाती है। इसकी लाइफ भी अच्छी होती है और गड्ढे भी नहीं बनते हैं। शहर में चार सड़कों को बनाने के लिए टेंडर जारी कर दिया गया। जिस पर करीब 1 करोड़ 76 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। एक बार सड़क बनने के बाद 15 सालों तक इसकी रिपेयरिग की भी जरूरत नहीं है। ऐसे में बार बार सड़क टूटने का डर भी नहीं रहेगा और नगरपरिषद को घाटा भी नहीं लगेगा।

19 नवंबर में हुई मीटिग मास्टिक एस्फाल्ट तकनीक से सड़क बनाने की बात नप अधिकारियों ने पार्षदों व विधायक दुड़ाराम के सामने रखी थी। सभी पार्षदों ने इस तकनीक से सड़क बनाने की हां भी कर दी थी। यहीं कारण था कि नगरपरिषद के अधिकारियों ने डीसी के पास फाइल भेजी। डीसी की मंजूरी के बाद इन सड़कों को बनाने के लिए टेंडर भी लगा दिया है।

------------------------------------

शहर में 2004 में बनी थीं शहर में सड़कें

फतेहाबाद शहर में 2004 में शहर के बीचों-बीच सीसी सड़कें बनाई गई थी। उस समय वाहन कम होने के कारण यह सड़क टूटी भी नहीं थी। लेकिन पिछले दो सालों से जगह जगह से सड़क टूटने के कारण वाहन चालकों को परेशानी हो रही थी। इसके अलावा कुछ दुकानदारों ने अपने यहां पानी व सीवरेज कनेक्शन करने के लिए सड़क तोड़ दी थी। करीब छह महीने पहले फैसला लिया गया था कि शहर में दौबारा सीसी सड़कें बनाई जाए।

---------------------------------

क्या है मास्टिक एस्फाल्ट लेयर सड़क

मास्टिक एस्फाल्ट लेयर का प्रयोग अक्सर पुल के ऊपर जो सड़क बनाई जाती है उस पर किया जाता है। इस लेयर में छोटे-छोटे दाने होते है जो इस सड़क को टूटने नहीं देते। वहीं इसकी लेयर अन्य सड़कों की अपेक्षा भी मोटी होती है। यहीं कारण है नप बार बार सड़क बनाने की बजाए एक बार ही अच्छी तकनीक से इन सड़कों को बना दिया जाए। मास्टिक एस्फाल्ट लेयर की सड़क बनाने में स्टोन चिप्स, प्लास्टिक, क्रशर, गद्देदार परत सहित अन्य सामान का प्रयोग होता है। इससे सड़क टूटने का झंझट नहीं रहता। ठेकेदार तीन साल तक की सड़क की गारंटी लेगा।

-----------------------------------

यहां बनेंगीं सड़कें

- लालबत्ती चौक से जवाहर चौक।

-धर्मशाला रोड, तहसील चौक से तुलसीदास चौक।

-भट्टूरोड से नर्सिग अस्पताल से सिरसा रोड की तरफ जाने वाली सड़क।

-हेरिटेज पार्क वाली सड़क।

-शिव चौक, बीघड़ रोड।

-डीएसपी रोड।

-पंचायत भवन वाली सड़क। सड़क बनाने में ये आएगी लगात

मार्ग लागत

-देवीलाल मार्केट से खेमाखाती रोड तक 40 लाख

-विजय चौधरी के घर से आशीर्वाद पैलेस 50 लाख

-हैरिटेज पार्क से बीघड़ चौक तक 71 लाख

-लालबत्ती से अरोड़वंश धर्मशाला तक 15 लाख

--------------------------------------------------------------------

चार करोड़ रुपये के टेंडर लगेंगे 20 दिसंबर के बाद

शहर के विकास के लिए हाउस मीटिग में करीब 5 करोड़ रुपये के विकास कार्य पास हुए थे। मास्टिक सड़कें बनाने का टेंडर हो गया है। वहीं पार्कों में जिम, लालबत्ती लगाने सहित अनेक कामों का टेंडर 20 दिसंबर बाद किया जाएगा। नगरपरिषद प्रधान ने अभी तक इन एजेंडों को चढ़ाया नहीं है। सोमवार को एजेंडे भी अधिकारियों तक पहुंच जाएंगे और डीसी से अनुमति ली जाएगी। डीसी द्वारा अनुमति देने के बाद इन कामों का टेंडर भी कर दिया जाएगा।

--------------------------------------

20 दिसंबर के बाद इन कामों का होगा टेंडर

योजना लागत

-27 पार्कों में झूले व जिम लगाने का सामान 80 लाख

-अंबेडकर चौक में अत्याधुनिक लालबत्ती 10 लाख

-वार्ड नंबर 13 सीवरेज लाइन बिछाना 13 लाख

-फुटपाथ के दोनों ओर पेंटिग व स्लोगन 25 लाख

-शहर में प्लास्टिक ब्रेकर लगाने 10 लाख

-जेसीबी मशीन खरीद प्रक्रिया 25 लाख

-वार्डों में आरसीसी बैंच लगाना 25 लाख

-वार्डों में बस क्यू सेंटर बनाना 24 लाख

-कुछ वार्डाें में हाई मास्क लाइट लगाना 25 लाख

-विभिन्न वार्डों में सड़क का निर्माण करने व मरम्मत 50 लाख

-वार्डों में 45 वॉट की स्ट्रीट लाइट लगाना 25 लाख

-रेस्ट हाउस की मरम्मत का काम 5 लाख

-वार्डों में साइन बोर्ड लगाने का काम 25 लाख

------------------------------------------------------------------

मास्टिक सड़क बनाने का टेंडर लगा दिया गया है। 20 दिसंबर को टेंडर खोला जाएगा। ठेकेदार ऑनलाइन टेंडर भर रहे है। इस सड़क की विशेषता ये होगी कि इसे बार बार नहीं बनाना पड़ेगा। अब सीसी सड़कें शहर में नहीं बना सकते। इंटरलोकिग सड़क शहर में कामयाब नहीं होती। इसलिए अत्याधुनिक तकनीक से सड़कें बनाने का निर्णय लिया है। टेंडर होते ही काम भी शुरू कर दिया जाएगा।

अमित कौशिक,

कार्यकारी अभियंता, नगरपरिषद, फतेहाबाद।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस