जागरण संवाददाता, फतेहाबाद

अधिकारियों से जो न्याय की उम्मीद होती है वो अक्सर नहीं मिलती। इसी को ध्यान में रखते हुए सीएम विडो शुरू की गई थी ताकि लोगों को न्याय मिल सके। फतेहाबाद जिले में 8572 लोगों ने शिकायत दी। जिसके बाद जिला प्रशासन की तरफ से 8034 शिकायतों का निपटान क दिया गया है। ऐसे में अब भी 538 ऐसी शिकायतें हैं जनका निपटान होना बाकी है।

नगराधीश अंकिता वर्मा ने लघु सचिवालय स्थित बैठक कक्ष में अधिकारियों की आयोजित एक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि सीएम विडो, सीपीग्राम्स, एसएमजीटी, सरल पोर्टल पर लंबित आवेदनों को निर्धारित समयावधि में निपटाने के आदेश दिए है। नगराधीश लघु सचिवालय के सभागार में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं की समीक्षा कर रही थी। इसके अलावा सीटीएम ने संबंधित विभागाध्यक्षों को निर्देश दिए कि वे कार्यालय में भौतिक रूप से फाइल का आदान-प्रदान ना करके इ-ऑफिस के माध्यम से पत्राचार करें। उन्होंने कहा कि ई-ऑफिस सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। पेंडिग शिकायतों का जल्द करेंगे निपटान

सीटीएम ने बताया कि सीएम विडो पर अब तक जिला में कुल 8572 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनमें से 8034 का निपटारा किया जा चुका है। नगराधीश ने संबंधित विभागों को निर्देश दिए कि वे शेष लंबित आवेदनों पर शीघ्रता से कार्यवाही करते हुए उनका निपटान करना सुनिश्चित करें और निर्धारित प्रफार्मा में एटीआर भी भेजें। इस कार्य में संबंधित विभाग के अधिकारी कोताही व ढिलाई न बरतें। उन्होंने जिला के विभिन्न विभागों में जितनी भी पेंडिग शिकायतें हैं उनका निवारण जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए। सीटीएम ने सरकार द्वारा चलाई जा रही गरीबों के लिए कल्याणकारी सभी योजनाओं की बारीकी से समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा चलाई गई सभी योजनाएं गरीब व्यक्तियों के कल्याण के लिए हैं। नागरिकों की समस्याओं का तत्परता से निपटारा किया जाए।

-------------------------

ये थे मौजूद

बैठक में बीडीपीओ संदीप भारद्वाज, नरेन्द्र कुमार, डीआईओ सिकंदर, डिप्टी सीएमओ डा. संगीता मेहता, एसडीओ संदीप गोदारा, एपीपीओ अनिल वीर सिंह, महावीर सिंह, पंकज, सौरभ जैन, डॉ. रविद्र भांभू, गिरधारी लाल, मुकेश, अनूप सिंह, गोविद, सतीश कुमार, विजेंद्र कुमार, दिनेश कुमार, सुभम साई, तरसेम सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहें।

Edited By: Jagran