संवाद सूत्र, रतिया :

हरियाणा विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में उपमंडल न्यायिक दंडाधिकारी पवन कुमार की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में उनके समक्ष करीब 145 मामले रखे गए, जिनमें 122 मामलों का मौके पर ही निपटारा किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से बैंकिग, सिविल, आपराधिक, मोटर एक्ट व अन्य दीवानी मामले रखे गए थे। राष्ट्रीय लोक अदालत के तहत अनेक लंबित मामलों के लाभपात्रों ने फायदा उठाया और मौके पर ही मामलों का निपटान करवाया। इस दौरान उप मंडल न्यायिक दंडाधिकारी ने संबोधित करते हुए कहा कि समय-समय पर लगने वाली ऐसी लोक अदालतों के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति को लंबित मामलों का अवश्य निपटारा करवाना चाहिए। उन्होंने बताया कि लोक अदालतों के माध्यम से निपटान किए गए मामलों को लेकर ऊपरी अदालत में भी चुनौती नहीं दी जा सकती और ऐसे मामलों से आपसी भाईचारा भी बढ़ता है। राष्ट्रीय लोक अदालत के दौरान करीब 47 मामले पराली से संबंधित थे, जो पिछले दिनों पुलिस द्वारा दर्ज किए गए थे। इसके अलावा बैंक रिक्वरी, सिविल केस, मोटर एक्ट व अन्य मामले भी निपटाए गए। इस अवसर पर बार एसोसिएशन के प्रमुख अधिवक्ता अमीर तनेजा, नारायण दत्त शर्मा, हरजीवन संधू, हरपाल गरोहा, सचिव नरेन्द्र मलिक, मोहन लाल बेनीवाल, कृपाल सिंह, राजेश सेठी, राजेश कुमार, देवेन्द्र सिंह व अन्य अधिवक्ता भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस