जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़ : पियाला से सीकरी मार्ग की हालत बेहद जर्जर हो गई है। यहां भारी वाहनों का निकलने से तीन-तीन फुट गहरे गड्ढे बन गए हैं। बारिश होने के बाद वाहन चालक जलभराव के बीच से हिचकोले खाते हुए निकलते नजर आए। यहां पर कई बार वाहन भी पलट चुके हैं और छिटपुट हादसे भी चुके हैं।

पिछले वर्ष पृथला के विधायक एवं हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन नयनपाल रावत ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को साथ लेकर दौरा भी किया था, लेकिन अभी तक योजना पर काम शुरू नहीं हो पाया है। सड़क का मामला शुक्रवार को हुई जिला परिवाद एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक में उपममुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के सामने भी उठाया गया।

गांव में भारत पेट्रोलियम बाटलिग प्लांट, इंडियन आयल कारपोरेशन, गेट रेलवे, बामन लारी जैसे बड़े-बड़े उद्योग लगे हुए हैं। पियाला से सीकरी की दूरी करीब तीन किलीमीटर है। सड़क से रोजाना सैकड़ों की संख्या में ओवरलोड भारी वाहनों का आवागमन होता है। भारी वाहनों की वजह से सड़क बहुत जल्दी टूट जाती है। सड़क किनारे रहने वाले लोग उड़ने वाली धूल से खासे परेशान हैं। सड़क में गहरे-गहरे गड्ढे बने होने से आए दिन दुर्घटना होती रहती हैं। कई लोगों की मौत भी हो चुकी है, लेकिन इसकी तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

-हरीश रावत, पियाला भारी वाहनों के आवागमन होने से सड़क जल्दी टूट जाती है। सड़क में बने गड्ढों में लोक निर्माण विभाग सिर्फ लाल चूरा डाल कर इतिश्री कर देता है, जो आम दिनों में धूल बन कर पूरे दिन उड़ता रहता है। यहां सड़क दुरुस्त होनी चाहिए।

-सोनू चौधरी, पियाला सड़क से निकलने वाले भारी वाहनों से सरकार को काफी राजस्व मिलता है। हर महीने मिलने वाले राजस्व में से पांच प्रतिशत भी सड़क पर खर्च करें, तो ये समस्या पैदा नहीं होगी।

-मोनू ठाकुर, पियाला विधायक के साथ दौरा करने के बाद हमने सड़क का एस्टीमेट बनाकर सरकार के पास भेजा हुआ है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जिला परिवाद एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक में इसे 24 जनवरी को अपने पास मंजूरी के लिए लाने को कहा है। उम्मीद है योजना मंजूर हो जाएगी और जल्दी काम शुरू हो जाएगा।

-प्रदीप संधु, लोक निर्माण विभाग फरीदाबाद

Edited By: Jagran