फरीदाबाद [प्रवीण कौशिक]। फरीदाबाद के तिगांव की जेलदार पट्टी में शीशराम नागर के घर में घुसकर किसी ने बुजुर्ग महिला व उनकी दो बेटियों को नशीला पदार्थ सुंघाकर गहने चोरी कर लिए। घर के अंदर पालतू कुत्ता भी बेहोश मिला, आशंका है सबसे पहले कुत्ते को ही किसी न किसी रूप में नशीला पदार्थ सुंघाया गया या फिर किसी खाने की चीज में नशीला पदार्थ दिया गया है, वरना वह अजनबी को देखकर बहुत भौंकता था। घटना का पता सुबह  लगा।

 

महिलाओं को तुरंत बल्लभगढ़ सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना को लेकर ग्रामीणों ने तिगांव पुराने बस अड्डे पर जाम लगा दिया। सूचना मिलने पर तिगांव थाना प्रभारी कुलदीप और बाद में एसीपी तिगांव भगतराम आए। इनके समझाने पर भी लोगों ने जाम नहीं खोला। भाजपा नेता राजेश नागर मौके पर आए और लोगों को समझाया और पुलिस को आरोपितों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी करने को कहा। इसके बाद ग्रामीणों जाम खोला। इस दौरान दो घंटे रोड पर जाम लगा रहा।

मामले की जानकारी होने पर कांग्रेस विधायक ललित नागर भी मौके पर पहुंचे थे। उधर, तिगांव थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। महिलाओं के ब्लड सेंपल जांच के लिए भेज दिए गए हैं ताकि पता लग सके कि इन्हें किस तरह की दवा से बेहोश किया गया है।

वहीं, कहा जा रहा है कि बेहोशी के लिए किसी स्प्रे का ही इस्तेमाल किया गया होगा। हैरानी की बात है कि शुक्रवार सुबह 10:00 बजे तक भी महिलाओं को होश नहीं आया। लोगों का कहना है कि पुलिस की निष्क्रियता के चलते ही चोर-बदमाशों के हौसले बुलंद हैं।

 

शीशराम नागर के बेटे जगदीश के अनुसार, बृहस्पतिवार को रक्षाबंधन पर्व पर उनकी दो बहनें रेखा व अनेखा राखी बांधने आई थी। रात को घर के अंदर उनकी माता जयपाल और दोनों बहनें सो रही थी। वह बाहर आंगन में और पिता शीशराम ऊपर छत पर सो रहे थे। सुबह करीब 5 बजे माता जगाने के बावजूद नहीं उठी तो शक हुआ। दोनों बहनें भी बेहोश थी। बहनों के गले से सोने की चेन व कानों के टोप्स गायब थे। आंगन में कुत्ता भी बेहोश था। वे समझ गए कि किसी ने उनकी माता, बहनों व कुत्ते को बेहोशी की दवा सुंघाई है।

100 मीटर पर थी पुलिस
जेलदार पट्टी में जिस घर में चोरी की घटना हुई, वहां से मात्र 100 मीटर दूरी पर उपनिरीक्षक सतपाल पीसीआर को लेकर गश्त पर थे। इतना ही नही पीसीआर ने एक-दो चक्कर घर के आगे भी लगाए, पर पता ही नहीं लगा कि चोर कब वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

बता दें इससे पहले सदपुरा रोड पर देवीराम सैनी के मकान सहित कई घरों में चोरी हो चुकी हैं। अक्सर कुछ संदिग्ध लोग देर रात इधर-उधर दिखाई देते हैं जिसे लेकर ग्रामीण डरे हुए हैं। खेतों में ज्वार की फसल बढ़ी हुई है, इसलिए ऐसे बदमाश भागकर उसमें छुप जाते हैं।

कुलदीप कुमार (एसएचओ, तिगांव) के  मुताबिक,  चोरी की घटनाएं बढ़ने के बाद गश्त बढ़ाई गई है। अब हमें एक और पीसीआर, स्टॉफ के साथ मिल गई है। क्राइम ब्रांच की टीम भी गांव में गश्त करेगी। बिजली विभाग के कार्यकारी अभियंता कुलदीप मोर से भी आग्रह किया है कि रात को लाइट कम से कम काटी जाए। लोग भी अलर्ट रहें और पहरा देना शुरू करें।

कई बार चोर बाहर से ही घरों की खिड़की में लगे कूलर में स्प्रे करते हैं, जिसके बाद हवा के निकली गैस से घर के भीतर मौजूद लोग बेहोश हो जाते हैं फिर चोर आसानी से वारदात को अंजाम देते हैं।

खास बात यह सामने आ रही है कि हाई टेक होते चोरों ने भी नई तकनीक से चोरी करने का तरीका अपनाना शुरू कर दिया है। पकड़े जाने के डर से सोते हुये लोगों पर नशीला स्प्रे छिड़क कर चोरी करना शुरू किया है। इससे एक ओर जहां परिवार के लोग नशे में सोते रहते हैं तो वहीं, चोर आसानी से घर साफ कर देते हैं।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav