फरीदाबाद, जेएनएन। फरीदाबाद के डीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर की आत्महत्या मामले में सनसनीखेज खुलाासा हुआ है।  पुलिस ने फिलहाल मृत शरीर को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और घटनास्थल की फरेंसिक जांच हो रही है। पिछले 2 साल से वह फरीदाबाद में पोस्टेड थे और एक साल बाद ही उनका रिटायरमेंट था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि थाना भूपानी एसएचओ अब्दुल शहीद और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ शिकायत मिली है। आरोप है कि दोनों डीसीपी विक्रम कपूर को ब्लैकमेल कर रहे थे।

DCP विक्रम कपूर ने किया सुसाइड, सर्विस रिवाल्वर से मारी गोली

इससे पहले फरीदाबाद के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (DCP) विक्रम कपूर ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। विक्रम कपूर ने अपने आवास में ही आत्महत्या की। पुलिस ने एक सुसाइट नोट बरामद किया है, जिसमें उन्होंने एक एसएचओ और एक स्थानीय नागरिक पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। 

मुंह में मारी थी गोली
डीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर ने बुधवार सुबह पुलिस लाइन में अपने आवास पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। डीसीपी ने गोली अपनी सर्विस रिवाल्वर से करीब 5.45 बजे मुंह के अंदर मारी है, जो खोपड़ी में ऊपर से निकली। उस समय उनकी पत्नी बाथरूम में थी। आवाज सुनकर बाहर आईं और पति को ड्राइंगरूम में खून से लथपथ पाया।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav