बल्लभगढ़, जागरण संवाददाता। सरकार ने खरीफ फसल को समर्थन मूल्य पर खरीदने के लिए मंडियों का चयन कर लिया है। तीन मंडियों का चयन धान परमल की खरीदने करने के लिए किया गया है। जबकि दो मंडियों में बाजरे की सरकारी खरीद की जाएगी। पिछले वर्ष भी बाजरे की खरीद करने के लिए तिगांव और बल्लभगढ़ मंडी का सरकार ने चयन किया था। इस वर्ष भी बाजरे की खरीद करने के लिए फिर से दोनों मंडियों को चुना है। इसी तरह से परमल धान की पिछले वर्ष बल्लभगढ़, मोहना का चुनाव किया गया था।

इस वर्ष इन दोनों मंडियों के साथ-साथ तिगांव में भी परमल धान खरीदा जाएगा। जिले में धान की करीब नौ हजार हेक्टेयर भूमि पर रोपाई की गई है। इसमें बाजरा करीब एक हजार एकड़ में बोया गया है। सरकार ने इस बार उन्हीं किसानों की फसल को खरीदने का फैसला लिया है, जिनकी मेरी फसल-मेरा ब्यौरा के तहत आनलाइन पंजीकरण किया गया है। यदि किसी ने अपनी फसल का पंजीकरण नहीं किया है, तो उस किसान की फसल समर्थन मूल्य पर नहीं खरीदी जाएगी।

मार्केट कमेटी के अतिरिक्त सचिव एवं कार्यकारी अधिकारी इंद्रपाल सिंह का कहना है कि सरकार ने धान की सरकारी खरीद 25 सितंबर से शुरू करने के निर्देश दिए हैं। पहले दिन धान की आवक होगी या नहीं, ये अभी कहना मुश्किल है। क्योंकि लगातार बारिश का मौसम होने से अभी धान की फसल नहीं निकाली गई है। वैसे भी परमल का रकबा फरीदाबाद में कम है। 

Edited By: Pradeep Chauhan