फरीदाबाद, जागरण संवाददाता: श्री श्रद्धा रामलीला कमेटी का मंच विदेश से आए मेहमानों को अपनी ओर खींच लाया। शु्क्रवार रात्रि मंचन के दौरान नीदरलैंड और अमेरिका से आए मेहमानों ने राम वनवास और केवट-राम मिलन प्रसंग को देखा और सराहना किए बिना नहीं रह सके।

उद्यमी जितेंद्र मंगला के साथ आए नीदरलैंड से याहोश व एलिजाबेथ से पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि कलरफुल एंड वंडरफुल। यह दोनों अपने मित्र हिमांशु मंगला के साथ नीदरलैंड से आए हैं। जितेंद्र मंगला के अनुसार दोनों को रामलीला के बारे में जानकारी दी गई, तो उन्होंने इसे देखने की इच्छा व्यक्त की।

जितेंद्र मंगला ने उन्हें रामलीला के बारे में जानकारी दी और प्रसंग के दौरान अंग्रेजी में अनुवाद करके बताया। उद्योगपति शम्मी कपूर के साथ उनकी धर्मपत्नी वीना कपूर, धर्मपत्नी के भाई रमेश कपूर व भाभी संगीता कपूर रामलीला देखने पहुंचे।

रमेश कपूर व संगीता कपूर अमेरिका के वर्जीनिया शहर से आए हैं। इस परिवार ने अंत तक रामलीला का भरपूर आनंद लिया। रमेश कपूर को तीन दशक पूर्व एनआइटी में विजय रामलीला कमेटी के दिनों की भी याद आ गई।

32 साल बाद देखी रामलीला

मैंने 32 साल बाद रामलीला देखी है। अमेरिका गए हुए तीन दशक से अधिक का समय हो चुका है। मंदिर तो हैं, वहां विभिन्न भारतीय संस्कृति में रचे बसे तीज त्यौहार, पर्व मनाए जाते हैं, पर रामलीला की संस्कृति नहीं है। मैं अब यहां अपने पिता जी से मिलने आया, तो शम्मी कपूर ने रामलीला की बात छेड़ी, तो हमने भी देखने की इच्छा जाहिर की। यह बेहद रोमांचक, भव्य और सुंदर दिखी। श्रद्धा रामलीला कमेटी के कलाकारों ने खूब मेहनत की है। -रमेश कपूर, निवासी वर्जीनिया, अमेरिका

रामलीला देखकर याद आया बचपन

मेरा जन्म गुजरात का है। रामलीला देख कर हमें अपना बचपन याद आ गया। करीब तीस साल पहले रामलीला देखी थी। बहुत अच्छे कलाकार थे, भव्य मंच था। राम, लक्ष्मण, सीता, कैकेयी, दशरथ, केवट आदि सभी ने बहुत सुंदर प्रदर्शन व अभिनय किया। आनंद आ गया। -संगीता कपूर, निवासी वर्जीनिया, अमेरिका

रामलीला देख खूब आया आनंद

मैंने 20 साल बाद रामलीला देखी है। इससे पहले एक नंबर में विजय रामलीला देखने जाती थी। यहां सभी तरह के रंग देखने को मिलते और हमने खूब आनंद लिया। -वीना कपूर, महिला उद्यमी

Edited By: Susheel Bhatia

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट