फरीदाबाद, जेएनएन। ईएसआइसी के सेकेंडरी केयर के मरीजों को अब फरीदाबाद सहित दिल्ली एनसीआर के सरकारी अस्पतालों में ही रेफर किया जाएगा। उन्हें पैनल के निजी अस्पतालों में रेफर नहीं किया जाएगा। इसे लेकर दिल्ली मुख्यालय ईएसआइसी की मेडिकल कमिश्नर डॉ.अनिता सेठी ने जिले के ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डीन, मेडिकल सुपरीटेंडेंट को पत्र जारी किया है।

तैयार हो रही हाई डिपेंडेंसी यूनिट

मेडिकल कमिश्नर के आदेश के बाद ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने प्रत्येक वार्ड में एचडीयू (हाई डिपेंडेंसी यूनिट) तैयार की जा रही हैं। उल्लेखनीय है कि ईएसआइसी अस्पताल में आइसीयू एवं विशेषज्ञ डॉक्टर नहीं होने पर पैनल के निजी अस्पतालों में रेफर कर दिया जाता था। इसके अलावा अधिकतर ईएसआइसी लाभार्थी डॉक्टरों पर दबाव बनाकर निजी अस्पताल करा लेते थे।

11 करोड़ का आता है आर्थिक बोझ

ईएसआइसी से मिली जानकारी के अनुसार प्रत्येक महीने चार हजार के करीब मरीजों को पैनल के निजी अस्पतालों में रेफर किया जाता है और इसका बिल 11 करोड़ रुपये करीब है। इससे सरकार पर बहुत अधिक आर्थिक बोझ बढ़ गया था। अब केवल गंभीर बीमारियों से जूझ रहे (जिनके इलाज की सुविधा ईएसआइसी अस्पताल में मौजूद नहीं है।) मरीजों को ही रेफर किया जाएगा।

मंगलवार से लागू हुए आदेश

ईएसआइसी कमिश्नर के नए आदेश मंगलवार से लागू हो गए हैं। एचडीयू वार्ड किए जा रहे हैं तैयार कमिश्नर के आदेश के बाद जिले के ईएसआइसी एवं मेडिकल कॉलेज के प्रत्येक चिकित्सा विभाग के वार्ड पांच-पांच बिस्तरों के एचडीयू तैयार किए गए हैं। इनमें गंभीर अवस्था के मरीजों को दाखिले किया जाएगा । इसके अलावा आइसीयू (इंटेंसिव केयर यूनिट) में बिस्तरों की संख्या बढ़ाकर 10 गई है।

बेडों की संख्‍या बढ़ाने पर हो रहा विचार

आइसीयू में और बेडों की संख्या बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। सभी बेडों पर मरीज के भर्ती होने की सूरत में मरीजों को दिल्ली एनसीआर के सरकारी एवं ईएसआइसी अस्पतालों में रेफर किया जाएगा। इसमें सभी अस्पतालों को सहयोग करने के भी आदेश दिए हैं। इसके अलावा विभिन्न सुविधाओं को बेहतर बनाने के भी आदेश दिए हैं। मरीजों की सुविधा के लिए वार्डों में हाई डिपेंडेंसी यूनिट (एचडीयू) को शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा दस बिस्तरों का आइसीयू भी शुरू हो गया है। इसके अलावा अन्य सुविधाओं को बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

डॉ. असीम दास, डीन, ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस