जागरण संवाददाता, फरीदाबाद। बाइपास पर हुए जलजमाव के कारण दक्षित दिल्ली बदरपुर के रहने वाले एक डाक्टर की जान आफत में आ गई। रास्ता भटकने के कारण डाक्टर कार सहित पानी में डूबने लगे। इससे पहले की वो पूरी तरह से डूबते, स्थिति को भांपते हुए कार से किसी तरह बाहर निकले और कार की छत पर बैठ गए। इस दौरान जलस्तर बढ़ रहा था, पर सराय ख्वाजा थाना पुलिस उनके लिए फरिश्ता बनकर आई। पुलिस महज तीन मिनट में उनके पास पहुंच गई और उन्हें सकुशल पानी से बाहर निकाल लिया।

डा.अरविंद रात दस बजे मैनपुरी यूपी से फरीदाबाद होते हुए दिल्ली जा रहे थे। उन्हें रास्ते का ज्यादा अंदाजा नहीं था। बाइपास पर निर्माण कार्य चल रहा है। वे रास्ता भटक गए। एक जगह गड्ढे में काफी जलजमाव हो रखा था। उसमें उनकी कार डूब गई। पानी कार के टायरों व बोनट से होता हुआ छत तक पहुंच गया। डा.अरविंद समय रहते बाहर निकल आए और कार की छत पर चढ़ गए। उनका फोन काम कर रहा था। आस-पास कोई मदद के लिए मौजूद नहीं था। उन्होंने तुरंत इमरजेंसी नंबर डायल किया।

सूचना सराय ख्वाजा थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह के पास पहुंची। उन्होंने एसआइ भगवान और हवलदार नरेंद्र को अपनी कार देकर तुरंत मौके पर भेजा। दोनों ने रस्सी के सहारे डा.अरविंद को पानी से बाहर निकाला और क्रेन बुलाकर रात में ही कार बाहर निकलवाई। डा.अरविंद ने पुलिस का धन्यवाद करते हुए कहा कि वह ढाई महीने बाद दिल्ली जा रहे थे।

बहुत ज्यादा वर्षा होने के कारण और बाईपास पर एक्सप्रेस-वे का निर्माण होने से रास्ता भटक गए। समय पर मदद के लिए सराय व पल्ला थाना पुलिस का धन्यवाद किया। पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा ने भी पुलिस टीम की सराहना की और उन्हें प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की। 

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan