फरीदाबाद, सुशील भाटिया। Kanpur Encounter Case: उत्तर प्रदेश के कानुपर में 8 पुलिसवालों की हत्या के आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे (History Sheeter Vikash Dubey) के 3 साथियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने बुधवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आरोपित प्रभात को कानपुर के चौबेपुर थाना के सब इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह की मांग पर एक दिन की ट्रांजिट रिमांड पर सौंपा है। जबकि अंकुर और उनके पिता श्रवण को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया है।

पुलिस ने विकास दुबे के साथी प्रभात से पुलिस ने तीन पिस्टल बरामद की थी। इनमें 2 पिस्टल यूपी पुलिस की और एक विकास की है। 

मिली जानकारी के मुताबिक, विकास दुबे पांच जुलाई को ही यहां पर पहुंच गया था। सूत्रों के मुताबिक, यहां के इंदिरा एन्क्लेव में उसका रिश्तेदार अंकुर रहता है। पहले वह अंकुर के पास ठहरा था। बाद में उसके लिए ओयो में ठहरने की व्यवस्था की। पुलिस को इंदिरा एन्क्लेव से ही सुराग हाथ लगा था। इसके बाद अंकुर को हिरासत में लिया गया। उसने विकास के ओयो होटल में ठहरे होने की सूचना दी। इसके बाद फ़रीदाबाद पुलिस ने ओयो के गेस्ट हाउस पर छापेमारी की। वहां से प्रभात उर्फ़ कार्तिकेय को पकड़ा गया, जबकि विकास पहले ही यहां निकल गया था। 

यहां पर बता दें कि विकास दुबे के अपने गुर्गों के साथ दिल्ली से सटे फरीदाबाद में छिपे होने की सूचना के बीच जिला क्राइम ब्रांच की टीमों ने मंगलवार रात को राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़खल मोड़ के पास स्थित ओयो गेस्ट हाउस  में छापेमारी कर 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

टाइम लाइन

  • बुधवार सुबह 5 बजे पुलिस टीम ने अंकुर के घर दोबारा सर्च की। इसमें चार पिस्टल, 44 कारतूस, एक बैग बरामद हुआ।
  • सुबह 6 बजे पुलिस ने प्रभात, अंकुर और उसके पिता श्रवण की गिरफ़्तारी डालकर मुकदमा दर्ज किया।
  • सुबह 7 बजे ऊंचा गाँव क्राइम ब्रांच पुलिस ने तीनों से पूछताछ शुरू की।
  • सुबह 10 बजे पुलिस की एक टीम ने हरी नगर में अंकुर के घर पर दोबारा सर्च की। पड़ोसियों से पूछताछ की।
  • 11 बजे से पुलिस तीनों आरोपितों को अदालत में पेश करने की कह रही है, अभी तक पेश नहीं किया।

जागरण संवाददाता के मुताबिक, छापेमारी की कार्रवाई के दौरान पुलिस ने गेस्ट हाउस की सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में ली है, जिससे विकास दुबे को पकड़ने में मदद मिल सके। बताया जा रहा है कि जिन 2 लोगों को हिरासत में  लिया गया है, उनमें से एक का हावभाव और डीलडौल विकास दुबे से काफी मिलता-जुलता है। फिलहाल दोनों लोगों से पूछताछ जारी है।

2 लोगों के पहचान पत्र पर हुआ शक

बताया जा रहा है कि छापेमारी के दौरान गेस्ट हाउस का रजिस्टर चेक करने के दौरान पुलिस को 2 लोगों के पहचान पत्र पर शक हुआ, जिसके बाद उन्हें हिरासत में लिया गया है। यूपी पुलिस से भी फरीदाबाद पुलिस ने संपर्क साधा है।

फरीदाबाद पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, विकास दुबे के अपने साथियों संग गेस्ट हाउस में छिपे होने की आशंका के बीच छापेमारी के दौरान प्रत्येक कमरे की तलाशी ली गई। वहीं, गेस्ट हाउस संचालक लगातार इस बात से इनकार करते रहे कि विकास दुबे अपने गुर्गों के साथ यहां पर छिपा है। 

Kanpur Encounter Case: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने कैसे दिया 2 राज्यों की पुलिस को गच्चा, पढ़िए इनसाइड स्टोरी

Kanpur Encounter Case: ट्वीटर पर Vikas Dubey के साथ टॉप ट्रेंड कर रहा Faridabad

History Sheeter Vikash Dubey: क्या छापे से पहले ही निकल गया था विकास दुबे? CCTV फुटेज से खुलेगा राज

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस