फरीदाबाद, जागरण संवाददाता। खोरी बस्ती में अवैध निर्माण ढहाने के साथ-साथ बेघर हुए लोगों के पुनर्वास के लिए भी प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं, पर कुछ शर्तों के साथ। इसके लिए प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देश पर प्रशासन ने तीन मापदंड निर्धारित किए हैं। पहली परिवार की वार्षिक आय तीन लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। परिवार के मुखिया का नाम बड़खल विधानसभा क्षेत्र की वोटर लिस्ट में एक जनवरी 2021 के अनुसार दर्ज होना चाहिए।

दिल्ली की वोटर लिस्ट में शामिल लोग योजना में नहीं होंगे शामिल

दिल्ली की वोटर लिस्ट में शामिल लोगों को योजना में शामिल नहीं किया जाएगा। दूसरे नियम के तहत परिवार के मुखिया के पास हरियाणा राज्य द्वारा एक जनवरी 2021 तक जारी किया गया परिवार पहचान पत्र हो और तीसरा कोई भी वैध कागजात जैसे परिवार के किसी भी सदस्य महिला एवं पुरुष के पास दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा जारी किया गया बिजली का कनेक्शन होना चाहिए।

नगर निगम आयुक्त डा.गरिमा मित्तल ने बताया कि जो लोग पात्र पाए जाएंगे उन्हें डबुआ व बापू नगर क्षेत्र में 30 स्कवायर मीटर की मल्टी स्टोरी बिल्डिंग में बिजली, पानी व शौचालय की सुविधा से युक्त ईडब्लूएस फ्लैट उपलब्ध कराए जाएंगे। इन फ्लैट्स की मरम्मत कराई जा रही है। जब तक मरम्मत का कार्य पूरा नहीं होता तब तक संबंधित व्यक्ति को कहीं अन्य मकान किराए पर लेने के लिए दो हजार रुपये प्रतिमाह छह महीने तक उपलब्ध करवाए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि जो भी व्यक्ति पुनर्वास योजना के तहत निर्धारित मानदंड पूरा करता होगा उसे तीन लाख 77 हजार 500 रुपये मूल्य का फ्लैट दिया जाएगा। यह पैसे निर्धारित मासिक किस्तों में चुकाने होंगे। उन्होंने कहा कि यह योजना पूरी तरह से मानवता को आधार बनाकर तैयार की गई है।

उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति शांतिपूर्ण ढंग से व स्वयं मकान खाली करके जाएगा उसे योजना के तहत फ्लैट आवंटन में प्राथमिकता दी जाएगी। दूसरे दिन इस योजना का लाभ लेने के लिए 150 से अधिक लोगों ने आवेदन किया।

Edited By: Mangal Yadav