जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : प्रदेश में जहां भी पांच से अधिक महिलाएं काम करती हैं, चाहे वह स्कूल, अस्पताल, एनजीओ या औद्योगिक क्षेत्र हो, वहां पर महिलाओं के अधिकारों के लिए कमेटी बनाई जाएगी। इसमें दो सदस्य संबंधित संस्था के और पांच सदस्य बाहर के होंगे। यह कमेटी महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों की निगरानी का काम करेगी और पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलाएगी। यह बात हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन रेनू भाटिया ने कही।

चेयरपर्सन नियुक्त होने के बाद पहली बार शनिवार को अपने शहर आईं रेनू भाटिया का बदरपुर बार्डर सहित कई जगह शहरवासियों ने उनका स्वागत किया। एनआइटी-5 में महारानी रेडियो स्टेशन के कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि बेटियों और महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार के खिलाफ महिला आयोग हर समय मजबूती के साथ खड़ा मिलेगा। महिला आयोग बेटियों और महिलाओं को सक्षम बनाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि संघर्ष मनुष्य के जीवन का अनुभव होता है और इस अनुभव को प्रेरणा के रूप में स्वीकार करके कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश का महिला आयोग लड़कियों को स्कूल, कालेज तथा अन्य क्षेत्रों में काम करने वाली लड़कियों की आत्मशक्ति को मजबूत बनाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि जिन महिलाओं के साथ साइबर अपराध हो रहा है और जो लोग खिलवाड़ कर रहे हैं, उनके खिलाफ निश्चित तौर पर कार्रवाई की जाएगी।

इस मौके पर फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान बीआर भाटिया, उद्योगपति विपिन भाटिया व आरके भाटिया, भाटिया सेवक समाज के प्रधान सरदार मोहन सिंह, बन्नू बिरादरी के प्रधान राजेश भाटिया, तहसीलदार नेहा साहरण, पार्षद मनोज नासवा, राजकुमार वोहरा, राजन मुथरेजा, अजय डुडेजा, सुधीर भाटिया ने पुष्प गुच्छ भेंट कर रेनू भाटिया का स्वागत किया।

Edited By: Jagran