जागरण संवाददाता, तिगांव : करीब चार महीने से तिगांव के कुम्हारवाड़ा में रहने वाले और यहां दुकान करने वाले दुकानदारों का जीना मुहाल हो गया है। जोहड़ ओवरफ्लो होने की वजह से गंदा पानी घरों तक पहुंच गया है। इस वजह से लोग बेहद परेशान हैं। इस समय मच्छरों का प्रकोप भी अधिक है। शासन-प्रशासन मलेरिया, डेंगू जैसी बीमारियों से बचने की अपील कर रहा है,लेकिन महीनों से ठहरे हुए गंदे पानी की वजह से सैकड़ों लोग बीमार हो रहे हैं। इसकी शिकायत सरपंच से लेकर विधायक से की जा चुकी है। अभी समाधान नहीं हो सका है।

स्थानीय निवासी संजय, रूपचंद, धन्नू मेंबर, दया और ओम दत्त ने बताया कि वैसे तो हर साल बारिश के समय जोहड़ का पानी ओवरफ्लो होकर घरों तक पहुंच जाता था, लेकिन इस बार बारिश अधिक हुई है, इस वजह से घरों में भी दो-दो फुट गंदा पानी जमा हो गया था। अब कई गलियों में पानी जमा है। बदबू व मच्छरों की वजह से लोग अधिक परेशान हैं। हर घर में किसी न किसी को बुखार आ रहा है। उधर, इसी मोहल्ले से गुजरने वाले मुख्य मार्ग पर भी पानी निकासी की व्यवस्था न होने से गंदा पानी जमा है। यहां से लोग पैदल नहीं निकल पा रहे हैं। भैंसरावली की ओर से मार्केट में आने का यह मुख्य मार्ग है। यहां आसपास दुकान करने वाले दुकानदारों की बिक्री ना के बराबर रह गई है। दुकानों के आगे कीचड़ व गंदा पानी जमा है। अधिक बारिश होने की वजह से हालात बिगड़े हैं। यहां पानी निकासी के लिए एक पंप लगाया हुआ है। जोहड़ को नए सिरे से दोबारा बनाया जाएगा। इस बाबत विधायक राजेश नागर व जिला उपायुक्त जितेंद्र यादव भी पिछले दिनों दौरा कर चुके हैं।

-रिकू भगत सिंह जोड़ला, सरपंच, तिगांव अधाना

Edited By: Jagran