जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : जिले में तालाबों की दशा किसी से छिपी नहीं है। कहीं कब्जे हैं तो कहीं कूड़े का ढेर लगा हुआ है। यही कारण है कि तालाबों का पानी ओवरफ्लो होता रहता है। कुछ एक ग्राम पंचायतें प्रशासन के सहयोग से इन तालाबों की हालत सुधारने में लगी हुई हैं। इनमें गांव सीकरी की ग्राम पंचायत भी शामिल है। गांव की महिला सरपंच इंद्रेश कुमारी ने गांव में दो तालाब खोदाई करा दी है। अब इनमे पानी भरा हुआ है। एक पुराने तालाब की सफाई के लिए कई बार पंचायत अधिकारियों को पत्र भेजी चुकी हैं, लेकिन समाधान नहीं हो सका है। नलकूप का पानी जाता है तालाब में

ग्राम पंचायत द्वारा गांव में जगह-जगह नलकूप लगवाए हुए हैं। इनका पानी भी नालियों के माध्यम से सीधे तालाब में पहुंचाया जाता है। यानी जल संरक्षण को लेकर जो बेहतर इंतजाम हो सकते हैं, वह किए जा रहे हैं। महिला सरपंच द्वारा समय-समय पर ग्रामीणों को पानी बचाने के प्रति जागरूक किया जाता है। पानी की बर्बादी रुकनी चाहिए

जल संरक्षण के साथ-साथ पानी बचाने को लेकर भी ग्राम पंचायत सक्रिय है। सरपंच और इनके पति अनिल कुमार ग्रामीणों को पानी व्यर्थ न बहाने को लेकर भी समझाते रहते हैं। सरपंच इंद्रेश के अनुसार यदि आज पानी बचाने के प्रयास नहीं किए गए तो आने वाले समय में बहुत बड़ी परेशानी होगी। भूजल स्तर लगातार खिसक रहा है। गांव में पानी संजोने के लिए तालाब बहुत बड़ा माध्यम हैं। यदि इनकी सफाई होती रहे तो इसका सीधा असर भूजल स्तर पर पड़ता है। साथ ही गांव में पानी निकासी की दिक्कत नहीं आती। तालाब होने भी बेहद जरूरी हैं।

- इंद्रेश कुमारी, सरपंच, सीकरी

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021