जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : नगर निगम की अलग-अलग टीमों ने संपत्ति कर जमा न कराने वाली 63 इकाइयों को सील कर दिया। इन इकाइयों पर लंबे समय से एक करोड़ रुपये से अधिक संपत्ति कर बकाया चल रहा है। एनआइटी जोन प्रथम में 23 इकाइयों को सील किया गया, जिन पर लगभग 56.50 लाख रुपये है। एनआइटी जोन-दो में आठ इकाइयों पर करीब 13.28 लाख रुपये बकाया होने पर तथा जोन-तीन में 12 इकाइयों को सील किया गया, जिन पर 10.66 लाख रुपये संपत्ति कर बकाया है। अन्य क्षेत्रों में 20 इकाइयां सील की गई हैं।

निगमायुक्त यशपाल यादव ने कहा कि जिन इकाइयों को सील किया जा चुका है और उनकी ओर से बकाया संपत्ति कर की राशि प्राप्त नहीं हुई है, तो उन इकाइयों की जल्दी ही निगम द्वारा नीलामी प्रक्रिया अमल मे लाई जाएगी। यशपाल यादव ने करदाताओं से अपील की है कि इस प्रकार की सख्त कारवाई से बचने के लिए अपने संपत्ति कर की अदायगी तुरंत करें। नगर निगम ने शहरवासियों से संपत्ति कर के लगभग 125 करोड़ रुपये लेने हैं।

Edited By: Jagran