जागरण संवाददाता, बल्लभगढ़ : जिले में 17 व 18 अक्टूबर को अच्छी बारिश होने के बाद अब किसान गेहूं की अगेती किस्म की बोआई करने के लिए डीएपी खाद पाने को जूझ रहे हैं। रोजाना बड़ी संख्या में किसान बाजार आ रहे हैं और सुबह छह बजे अनाज मंडी स्थित कृभको और इफको केंद्र के बाहर लंबी लाइन लगाकर खड़े हो जाते हैं। कई किसानों की शिकायत है कि उन्हें पूरे दिन में एक भी कट्टा नहीं मिल रहा है।

बृहस्पतिवार को कृभको केंद्र के बाहर ऐसे किसानों की लंबी लाइन लगी हुई थी। किसानों का आरोप है कि सेल्समैन पिछले दरवाजे से अपने चहेते किसानों को ज्यादा रुपये लेकर खाद के कट्टे बेच देते हैं। अब कह रहे हैं कि उसके पास खाद का कोई कट्टा नहीं है। दो दिन पहले उसके पास 1200 कट्टे खाद के थे। इन में से 700 कट्टे बांटे और अन्य कट्टों की कालाबाजारी कर दी। सेल्समैन ने मंगलवार को मेरा आधार कार्ड नंबर ले लिया और नाम लिख लिया। बृहस्पतिवार को आने के लिए कहा था। अब कह रहे हैं कि खाद नहीं है। यदि खाद नहीं था, तो फिर मेरा नाम सूची में क्यों लिखा।

-सतीश कुमार, किसान सागरपुर मैं सुबह 6 बजे आकर लाइन में लग गया। सरकारी कार्यालय नौ बजे खुल जाते हैं। कृभको का बिक्री केंद्र 11 बजे खुला। हमें अंदेशा है कि पिछले दरवाजे से अपने चहेतों को ज्यादा रुपये लेकर खाद बेची जा रही है।

-महेश कुमार, किसान पन्हैड़ा खुर्द 19 अक्टूबर को डीएपी के एक हजार कट्टे आए थे। सभी कट्टों को बांट दिया गया है। कोई कालाबाजारी नहीं की गई है। किसानों के आरोप बेबुनियाद हैं। अब 24 या 27 अक्टूबर को डीएपी का रैक लगेगा।

-नरेंद्र सिंह, सेल्समैन कृभको केंद्र

Edited By: Jagran