जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : छोटी सी गलतफहमी की वजह से एक परिवार ऑनर कि¨लग का आरोपित बन गया। परिवार के खिलाफ अपनी किशोर उम्र बेटी की हत्या कर सबूत नष्ट करने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हो गया। दरअसल, किशोरी को मंगलवार तड़के सांप ने डस लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। सांप डसने के मामले में पोस्टमॉर्टम नहीं होता, यह कहकर सिविल अस्पताल ने बिना पोस्टमॉर्टम के शव परिजनों को सौंप दिया। परिजन जब किशोरी का अंतिम संस्कार कर रहे थे, तभी किसी ने पुलिस को सूचना दे दी कि परिवार ने बेटी की हत्या कर दी और अब अंतिम संस्कार कर रहे हैं। पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक अंतिम संस्कार हो चुका था। पुलिस ने सूचना के आधार पर परिवार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप