जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : ईएसआइसी मेडिकल एवं अस्पताल का विस्तार किया जाएगा। इसके लिए ईएसआइसी मुख्यालय के पास 250 बेड का एक और अस्पताल बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है, जोकि ईएसआइसी अस्पताल के पुराने भवन के स्थान पर बनाया जाएगा। मुख्यालय से मंजूरी मिलने ईएसआइसी अस्पताल में बेड की संख्या 710 हो जाएगी। फिलहाल 510 बेड वाले ईएसआइसी अस्पताल में फरीदाबाद के लगभग 6 लाख बीमाधारकों के अलावा पलवल, हथीन, मेवात, झज्जर, करनाल, पानीपत, सोनीपत के भी आइपी इलाज के लिए आते हैं।

उल्लेखनीय है कि ईएसआइसी कॉलेज प्रबंधन ने मुख्यालय से आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के लिए 50 सीट बढ़ाने की मांग की थी। मुख्यालय ने ईएसआइसी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। बता दें कि अभी तक 100 सीट पर दाखिले होते हैं। इसमें 50 सीट हरियाणा के छात्रों के लिए, 35 सीट ईएसआइसी लाभार्थियों के लिए और 15 सीट अन्य राज्यों के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित हैं। अब इसमें आर्थिक रूप से पिछड़े बच्चे भी पढ़ सकेंगे। इसलिए आवश्यकता पड़ी

ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज में छात्र यूजी के अलावा पीजी की डिग्री भी प्राप्त कर सकेंगे। इसके लिए ईएसआइसी को एमसीआइ की सभी मानकों को पूरा करने की आवश्यकता होती है। पीजी कोर्स को शुरू करने के लिए और बेड बढ़ाए जाने की आवश्यकता है। इससे छात्रों को शिक्षा के साथ बेहतर प्रशिक्षण का मौका भी मिल सकेगा। इसके अलावा मरीजों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। इसे देखते हुए कॉलेज प्रबंधन ने दिल्ली स्थित ईएसआइसी मुख्यालय को 250 बेड नया अस्पताल बनाने का प्रस्ताव भेजा है। नए शैक्षणिक सत्र में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की सीटें बढ़ाई बढ़ाने के साथ कॉलेज में पीजी और डीएनबी कॉर्स शुरू किए जाने है। इसके लिए ईएसआइसी मुख्यालय को 250 बेड का एक ओर ब्लॉक (अस्पताल) बनाने का प्रस्ताव मंजूरी के लिए भेजा गया है।

-डॉ. अनिल पांडेय, रजिस्ट्रार, ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस