जागरण संवाददाता, फरीदाबाद:

आगरा नहर के साथ कालिंदी कुंज जाने वाले मार्ग के निर्माण कार्य की रफ्तार धीमी पड़ गई है। बिजली के खंभे निर्माण कार्य में अड़चन बने हुए हैं और बारिश भी निर्माण कार्य में बाधा बनी हुई है। हुडा अधिकारियों ने खंभों को दूसरे जगह बदलने के लिए विद्युत विभाग से बात की है।

-------------

ग्रेटर फरीदाबाद पूर्ण रूप से विकसित होने के बाद यहां पर करीब तीन लाख लोग रहेंगे। हुडा ने इतनी बड़ी आबादी की सहूलियत के लिए जहां आगरा नहर पर चार पुल का निर्माण कार्य शुरू कराया हुआ है, वहीं कालिंदी कुंज से आगरा नहर से सटी जर्जर सड़क को चौड़ी करने का शुरू कराया है। इसे बनाने के लिए हुडा करीब 33.5 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है। चूंकि इस सड़क का रखरखाव उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के पास है, इसलिए हुडा ने इस सड़क निर्माण के लिए सिंचाई विभाग को करोड़ों रुपये जमा कराए हैं। सिंचाई विभाग ने तिगांव पुल से पल्ला पुल के आगे दिल्ली बार्डर तक करीब 16 किलोमीटर मार्ग को बनाने का ठेका अलग-अलग कंपनियों को दिया है। सड़क चौड़ी करने के लिए खुदाई का काम चल रहा है। जगह-जगह पत्थर भी डाले जा रहे हैं, लेकिन खेड़ी पुल के पास नहर के साथ बीचोंबीच बिजली के खंभे निर्माण कार्य में बाधा बने हुए हैं। सिंचाई विभाग के एसडीओ एसी जैन ने इस बारे में बिजली विभाग के अधिकारियों से बात की है।

-----------------

हमने विद्युत विभाग को खंभे दूसरी जगह लगाने के लिए बात की है। बिजली विभाग के कर्मचारी जल्द ही मौका का निरीक्षण कर खंभे हटाने का काम शुरू करेंगे। इन खंभों के हटने से निर्माण कार्य में दिक्कत नहीं आएगी। हमने सिंचाई विभाग को साढ़े छह करोड़ रुपये जमा करा दिए हैं और बकाया राशि भी सिंचाई विभाग को जमा कराते रहेंगे।

-राजीव शर्मा, कार्यकारी अभियंता, हुडा

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021