संवाद सूत्र, ढिगावा मंडी: भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले ढिगावा की नई अनाज मंडी में बाजरा खरीद के लिए प्रतिदिन 300 गेट पास जारी करने और धांधलीबाजी बंद करने की मांग को लेकर चल रहे अनिश्चितकालीन धरने के छठे दिन की अध्यक्षता जिला प्रधान अशोक अमीरवास ने की। छठे दिन धरना स्थल पर बड़ी संख्या में किसान सम्मिलित हुए और जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। यूनियन के युवा प्रदेश अध्यक्ष रवि आजाद ने कहा कि सरकार के दावों के उलट मंडियों में किसान का बाजरा ना के बराबर खरीदा जा रहा है। पिछले 21 दिन से मंडी चल रही है लेकिन अब तक 5 फीसद रजिस्टर्ड किसानों का बाजरा भी नहीं खरीदा गया है। जो खरीद हुई है वह भी व्यापारियों के अवैध बाजरे की फर्जी रजिस्ट्रेशन के ऊपर खरीद की गई है। मंत्री के खुद के जिले और विधानसभा में किसान दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं और पिछले 6 दिन से किसान धरने पर हैं लेकिन कृषि मंत्री के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। जब धरना शुरू किया गया था तो 1 दिन में मात्र 15 गेट पास जारी किए जाते थे उसके बाद किसानों के दबाव में 80 गेट पास प्रतिदिन जारी किए जा रहे थे और किसानों के कड़े निर्णय को देखते हुए कल से प्रतिदिन डेढ़ सौ गेट पास बाजरा खरीद के लिए जारी किए जाएंगे। डेढ़ सौ गेट पास का लेटर जारी होने के बाद और तीन कृषि कानूनों के खिलाफ तोशाम में निकाल ले जाने वाली ट्रैक्टर यात्रा की व्यस्तता के कारण सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सरकार तत्काल प्रभाव से अधिक गेट पास जारी करें ताकि मंडिया बंद होने से पहले किसान की उपज बिक सके। सर्वसम्मति से निर्णय हुआ की आगामी 1 नवंबर को हरियाणा स्थापना दिवस पर मंडी स्थल में किसान महापंचायत की जाएगी और किसी प्रकार की कोताही बाजरा खरीद में बढ़ती गई तो मौके पर ही कड़ा निर्णय लिया जाएगा। सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की तोशाम में निकाली जाने वाली किसान क्रांति यात्रा के लिए भी जिम्मेदारियां लगाई गई। धरनास्थल पर बलवंत खरखड़ी, हवा सिंह,कोहर सिंह,होशियार सिंह,बलवान ढाणी केहरा,रघुवीर, मनोज,रविन्द्र,वीरेंद्र,उमेद,रघुवीर सहित अनेक किसान व कार्यकर्ता मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप