जागरण संवाददाता, भिवानी : सेक्टर 13 व 23 में हजारों सेक्टरवासियों ने ग्रीन बेल्ट में कब्जे कर लिए हैं। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के अधिकारियों ने पिछले दिनों एक हजार नोटिस जारी किए, लेकिन सेक्टरवासियों ने ये नोटिस लेने से इंकार कर दिया। अब प्राधिकरण के अधिकारी 17/3 व 17/4 की कार्रवाई करने की तैयारी कर रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि प्राधिकरण के अधिकारियों ने पिछले दिनों सेक्टर 13 व 23 की ग्रीन बेल्ट पर कब्जों को लेकर सर्वे करवाया था। इस सर्वे में पाया गया कि सेक्टर 13 के विक्कर सेक्शन में सर्वाधिक लोगों ने ग्रीन बेल्ट को सड़क तक फैलाया हुआ है। अधिकांश लोगों ने घरों के बाहर चबूतरे बना लिए या फिर अवैध रूप से गाड़ी पार्किग बना ली। हालांकि सेक्टर 13 व 23 में भी कई लोगों ने अतिक्रमण किया हुआ है पर विक्कर सेक्शन की तुलना में काफी कम है। इन कब्जों को हटाने के लिए प्राधिकरण के अधिकारियों ने पिछले दिनों विक्कर सेक्शन में रह रहे एक हजार लोगों को नोटिस भेजे। अधिकारियों की मानें तो सेक्टरवासियों ने इन नोटिसों को लेने से ही इंकार कर दिया। इस बात के प्राधिकरण के अधिकारी परेशान हुए हैं, लेकिन अब कड़ा एक्शन लेने की तैयारी में जुट गए हैं। इसके तहत अब सेक्शन 17/3 व 17/4 के तहत नोटिस जारी किए जाएंगे। बाक्स

क्या सेक्शन 17/3 व 17/4 के नोटिस

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यह कार्रवाई शुरू होने के बाद भी अवैध कब्जे नहीं हटाए जाते हैं तो मकान या प्लाट की मलकियत को प्राधिकरण के नाम करने का प्रोसेस शुरू हो जाएगा। भविष्य में मकान मालिक अपने मकान या प्लाट नहीं बेच पाएंगे। बाक्स

जल्द ही कड़े कदम उठाए जा रहे हैं-बलराज ¨सह

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के एसडीओ बलराज ¨सह ने कहा कि अब 17/3 व 17/4 के तहत नोटिस देने का फैसला किया गया है। इन नोटिसों के माध्यम से अतिक्रमण खुद हटाने की चेतावनी दी जाएगी। यदि फिर भी कोई असर नहीं होता है तो ये नोटिस देने के बाद मलकियत प्राधिकरण करने की कार्रवाई शुरू हो जाएगी।

Posted By: Jagran