जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : सरसों की सरकारी खरीद करने के लिए आढ़तियों को हैंडलिग एजेंट बनने के लिए अब 10 के बजाय 5 लाख रुपये का चैक बतौर सिक्योरिटी हैफेड को जमा करवाना होगा। इसके साथ ही यदि 48 घंटे तक फसल का उठान नहीं होगा तो घटती का जिम्मेवार हैंडलिग एजेंट नही होगा। यह निर्णय शुक्रवार को पशुपालन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी, हैफेड अधिकारियों व आढ़तियों के बीच हुई बैठक में लिया गया। दादरी अनाज मंडी व्यापार मंडल के प्रधान रामकुमार रिटोलिया ने कहा कि अभी आढ़तियों से बात की जाएगी। यदि सभी आढ़ती इन शर्तों से सहमत नहीं होंगे तो 30 मार्च को मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले हैफेड के डीएम द्वारा हैंडलिग एजेंट बनने के लिए 10 लाख रूपये का ड्राफ्ट बतौर सिक्योरिटी जमा करवाने की बात कही थी। जिसके बाद आढ़ती विफर गए थे तथा सरसों व गेहूं की खरीद प्रक्रिया का बहिष्कार करने की चेतावनी दी थी। जिसके बाद शुक्रवार को दादरी जिला के प्रभारी तथा पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी ने उपायुक्त अजय सिंह तोमर के साथ अधिकारियों व आढ़तियों की बैठक ली। साथ ही उन्होंने अनाज मंडी का दौरा कर खरीद की तैयारियों का भी जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने आढ़तियों की समस्याएं भी सुनी तथा अधिकारियों को उनके समाधान के निर्देश दिए। हालांकि शुक्रवार को भी सरसों की खरीद शुरू नहीं हो पाई। अब सोमवार एक अप्रैल से सरसों की सरकारी खरीद शुरू होगी। इस दौरान दादरी के एसडीएम सतबीर कुंडू, जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक बीएस दून, हैफेड के जिला प्रबंधक कृष्ण नरवाल, मार्केटिग बोर्ड के डीएमइओ श्याम सुंदर बंसल, मार्केट कमेटी सचिव बसंत कुमार इत्यादि भी उपस्थित थे।

बाक्स :

एसीएस ने ली अधिकारियों की बैठक

अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी ने जिला उपायुक्त व विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ दादरी के लोक निर्माण विश्राम गृह में बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरसों की खरीद के लिए प्रशासनिक स्तर पर पूरे प्रबंध होने चाहिए। संबंधित एजेंसियां समय पर फसलों की खरीद को शुरू करें। उन्होंने बताया कि दादरी में सरसों बेचने के लिए 29 हजार 730 किसानों से अपना पंजीकरण करवाया हुआ है। इनसे 24 हजार 750 मीट्रिक टन सरसों की खरीद की जाएगी। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बारदाना, भंडारण क्षमता व भुगतान की प्रक्रिया की समीक्षा की तथा खाद्य एवं पूर्ति, हैफेड, मार्केटिग बोर्ड, राजस्व विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

बाक्स :

पहले उपायुक्त और बाद में आढ़तियों से मिले एसीएस गुलाटी

लोक निर्माण विश्राम गृह में अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद एसीएस सुनील कुमार गुलाटी व उपायुक्त अजय सिंह तोमर नई अनाज मंडी स्थित किसान विश्राम गृह में पहुंचे। यहां पर उपायुक्त ने आढ़तियों से बात की। इस दौरान आढ़तियों ने उन्हें बताया कि हैफेड डीएम द्वारा 10 लाख रुपये सिक्योरिटी के रूप में जमा करवाने की नाजायज शर्त को उन पर थौंपा जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि शेड्यूल में अधिक से अधिक गांवों को शामिल किया जाना चाहिए। उसके बाद आढ़तियों के प्रतिनिधिमंडल ने जिला उपायुक्त के साथ एसीएस सुनील कुमार गुलाटी से मुलाकात की। इस दौरान आढ़तियों ने उन्हें मंडी में सुचारू रूप से बिजली की सप्लाई तथा चौकीदार की व्यवस्था करने की बात भी कही। एसीएस के साथ बैठक के दौरान यह तय हुआ कि आढ़ती को हैंडलिग एजेंट बनने के लिए 10 के बजाय 5 लाख रूपये बतौर सिक्योरिटी जमा करवाने होंगे।

बाक्स :

आढ़तियों ने बताई समस्याएं

दादरी में पहुंचे अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी द्वारा नई अनाज मंडी का निरीक्षण करने के दौरान आढ़तियों ने उनके समक्ष कई समस्याएं भी रखी। आढ़तियों ने बताया कि मंडी में चौकीदार की व्यवस्था नहीं है। जिसके कारण सामान चोरी होने तथा बेसहारा पशुओं द्वारा फसल को खराब कर दिया जाता है। इसके अलावा कुछ टीन के शैडों से पानी भी टपकता है। जिस पर एसीएस एसके गुलाटी ने मार्केट कमेटी सचिव को चौकीदार की पुख्ता व्यवस्था करने के आदेश दिए। इसके अलावा मार्केटिग बोर्ड के एसई कुलदीप को जल्द से जल्द टीन शैड की रिपेयरिग, शौचालयों में रोशनी की व्यवस्था तथा मंडी के गेटों पर कैटल कैचर लगवाने के आदेश दिए।

बाक्स :

खरीद तैयारियों का लिया जायजा : एसीएस

अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील कुमार गुलाटी ने बताया कि उन्होंने सरसों व गेहूं की खरीद तैयारियों का जायजा लिया है। जिसमें फसलों के रखने, बारदाना, उठान इत्यादि के बारे में जानकारी ली गई है। उन्होंने बताया कि अब आढ़ती 5 लाख रुपये का चैक बतौर सिक्योरिटी जमा करवाकर हैंडलिग एजेंट बन सकेंगे। जल्द ही शेड्यूल बनाकर सोमवार से सरसों की खरीद शुरू करवा दी जाएगी। साथ ही फसलों के समय पर उठान के लिए आढ़तियों व ट्रांसपोर्टर को आपसी तालमेल बनाने के लिए कहा गया है। जिससे फसलों का उठान समय पर हो सकेगा। इसके अलावा आढ़तियों की मांग पर मंडी में एक स्थाई चौकीदार के लिए बोर्ड के मुख्य प्रशासक से बात की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस