जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : करनाल में पुलिस द्वारा किसानों पर किए गए लाठीचार्ज को लेकर सोमवार को भी कितलाना टोल पर किसानों ने रोष जताया। उन्होंने कहा कि सरकार ने सारी हदें पार कर दी हैं लेकिन वो जो मर्जी हथकंडे अपना लें वे तीनों कृषि कानून रद होने तक अपना संघर्ष जारी रखेंगे। खाप सांगवान के कन्नी सचिव सुरेंद्र कुब्जानगर ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार किसान और जवान को आपस में भिड़वाकर भाइचारे को बिगाड़ने का प्रयास कर रही है। उन्होंने सरकार को चेताते हुए कहा कि अगर भविष्य में सरकार के इशारे पर पुलिस ने इस तरह की ज्यादती करने का प्रयास किया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। उन्होंने कहा कि हम शांतिपूर्ण तरीके से अपनी वाजिब मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं लेकिन सरकार इसे हमारी कमजोरी ना समझे। 249वें दिन भी जारी रहा धरना

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर धरने के 249वें दिन सांगवान खाप के सूरजभान सांगवान, श्योराण खाप के बिजेंद्र बेरला, जाटू खाप के मास्टर राजसिंह, किसान सभा के रणधीर कुंगड़, गंगाराम श्योराण, सुभाष यादव, मीरसिंह नीमड़ी वाली, अत्तर सिंह समसपुर, संतरा डोहकी, कृष्णा गौरीपुर ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की। उन्होंने संयुक्त मोर्चा से आह्वान करते हुए कहा कि वो आंदोलन को ओर गति देने और सरकार की हठधर्मिता को कड़ा जवाब देने के लिए ठोस कदम उठाए। उन्होंने कहा कि कितलाना टोल पूरी मजबूती से संयुक्त किसान मोर्चा के आदेशों का पालन करेगा। ये रहे मौजूद

धरने का मंच संचालन रणधीर घिकाड़ा ने किया। इस अवसर पर मास्टर ताराचंद चरखी, कमल प्रधान, राजकुमार हड़ौदी, धर्मेन्द्र छपार, जगदीश हुई, प्रो. जगमिद्र सांगवान, शमशेर सांगवान, मास्टर सुरेन्द्र गौरीपुर, पोपी, सत्यवान कालुवाला, बलविदर गिरदावर, कप्तान धनपाल, मौजीराम, मोनू फतेहगढ़, रतनी देवी, राजबाला कितलाना, सूबेदार सत्यवीर इत्यादि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran