जागरण संवाददाता, भिवानी : बिजली निगम द्वारा बिजली चोरी रोकने और लोहे के खंभे बदलने के लिए बृहस्पतिवार को हालू मुहल्ले में निगम की टीम पहुंची तो विवाद खड़ा हो गया। बिजली विभाग की टीम के साथ युवक ने मारपीट कर उनके काम में बाधा पहुंचाई। जिसे लेकर बिजली के खंभे लगाने के लिए पहुंचे ठेकेदार के कर्मचारियों को को काम बीच में रोकना पड़ा। शराब के नशे में धुत एक युवक ने एक कर्मचारी को थप्पड़ तक जड़ दिया। जिसके लेकर वहां एक घंटे तक हंगामा होता रहा। निगम के एसडीओ, जेई और फोरमैन भी मौके पर पहुंचे। करीब एक घंटे तक विवाद होने और स्थानीय लोगों द्वारा आरोपित युवक को वहां से भेजने के बाद मामला शांत हुआ।

स्थानीय हालू मुहल्ला वाल्मीकि कालोनी में दो साल से लोहे के खंभे हटाने और लाइन बदले जाने की मांग की जा रही है। यहां काम शुरू करते ही हर बार कोई ना कोई विवाद खड़ा हो जाता है। बृहस्पतिवार को भी ऐसा ही हुआ। बिजली निगम के जेई महेंद्र सिंह, फोरमैन रामचंद्र ठेकेदार की वर्करों को लेकर लाइन बदलने के लिए वहां पहुंचे। जेई व ठेकेदार के वर्करों ने बताया कि कर्मचारियों ने नए पोल लगाने के लिए जगह की निशानदेही कर काम शुरू ही किया था कि अचानक दो युवक आए। उनमें से शराब के नशे में धुत एक युवक ने आते ही गालियां देनी शुरू कर दी। साथ ही तुरंत प्रभाव से बिजली काम बंद करने की धमकी दी। उसे काफी समझाया गया, लेकिन वह नहीं माना। स्थानीय लोगों के कहने पर भी वह नहीं माना। कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि इसी दौरान उक्त युवक ने ठेकेदार के एक कर्मचारी को पीटना शुरू कर दिया। कर्मचारियों ने बीच बचाव किया तो उन्हें जान से मारने की धमकी दी। बाद में स्थानीय लोगों ने ही बीच बचाव कर आरोपित से कर्मचारी को छुड़वाया कर बचाया। घटना की सूचना आला अधिकारियों को दी गई, लेकिन बाद में स्थानीय लोगों ने उक्त युवक के नशे में ये सब करने की बात कहते हुए मामले को शांत किया और युवक को मुश्किल से वहां से भेजा। जब जाकर ये पूरा मामला शांत हुआ और काम दोबारा शुरू किया गया। कर्मचारियों ने कहा कि इस बार तो स्थानीय लोगों के कहने पर पुलिस में शिकायत नहीं की, लेकिन अगर कोई ऐसा करेगा तो उसके खिलाफ आगे कार्रवाई जरूर करेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप