जागरण संवाददाता, भिवानी :

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा पोषण माह अभियान के तहत शहर की विभिन्न कालोनियों में नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया गया। नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से कलाकारों ने कन्या भ्रूण हत्या नहीं होने देने का संदेश दिया। इस दौरान महिलाओं को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शपथ भी दिलाई गई।विभाग द्वारा सिटी कालोनी, नेहरू कॉलोनी, ढ़ाणी गुजरान, ढ़ाणी अहीरान, सिगीकाट मौहल्ला, विद्या नगर, वीरवान पाना व ढाणी चेजरान में आयोजित किए गए। नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से कलाकारों ने संदेश दिया कि कन्या भ्रूण हत्या करना न केवल एक सामाजिक बुराई है बल्कि कानूनी अपराध भी है। उन्होंने कहा कि यदि कहीं पर कन्या भ्रूण हत्या किए जाने की सूचना मिले तो उसकी जानकारी तुरंत प्रभाव से स्वास्थ्य विभाग, जिला या पुलिस प्रशासन को दें। उन्होंने संदेश दिया कि कन्या भ्रूण हत्या करने वालों की जगह जेलों में होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कन्या भू्रण हत्या और लिग जांच की सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाता है और पुख्ता जानकारी व मामले में मुकदमा दर्ज होने पर एक लाख रुपए प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। इसी प्रकार से नकली ग्राहक तैयार होने वाली महिला को सवा लाख रुपए दिए जाते हैं।कार्यक्रम के दौरान सीडीपीओ दर्शना मालवाल ने महिलाओं को पोषण के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं का स्वस्थ होना जरूरी है। इस दौरान महिलाओं को बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शपथ भी दिलाई।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021