जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : कोरोना काल में वैक्सीन की बूस्टर डोज के नाम पर धोखाधड़ी की बढ़ रही घटनाओं को लेकर दादरी पुलिस ने नागरिकों को सतर्क करने के लिए एडवाइजरी जारी की है। जिसके तहत लोगों से विशेष तौर पर सावधान रहने की अपील की जा रही है। पुलिस अधीक्षक दीपक गहलावत ने लोगों से सतर्क रहने, टोल फ्री नंबर व साइबर पोर्टल पर तुरंत शिकायत दर्ज करवाने को कहा है। एसपी दीपक गहलावत ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर फ्रंटलाइन वर्कर्स, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को सरकार द्वारा वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाई जा रही है। इसी बूस्टर डोज के नाम पर साइबर ठग गिरोह सक्रिय हो गए हैं। साइबर ठगों ने बूस्टर डोज को नया हथियार बना लिया है। उन्होंने कहा कि इंटरनेट मीडिया पर मैसेज वायरल हो रहे हैं, जिसमें दावा किया जा रहा है कि साइबर ठग बूस्टर डोज के नाम पर लोगों से फ्राड कर सकते हैं। ऐसे करते हैं धोखाधड़ी

पुलिस अधीक्षक ने लोगों से सावधानी बरतने का आग्रह करते हुए कहा कि ऐसे मामलों में फोन पर एक काल आती है। काल करने वाला व्यक्ति लोगों को पहले लगी दोनों डोज की तारीख व स्थान सही बताता है। इसके बाद काल करने वाला व्यक्ति कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रान से बचने के लिए तीसरी बूस्टर डोज लगवाने का आग्रह करता है। साथ ही बूस्टर डोज के लिए समय व स्थान भी बताता है। बूस्टर डोज के लिए रजिस्ट्रेशन के नाम पर मोबाइल फोन पर एक वन टाइम पासवर्ड, ओटीपी भेजा जाता है। जिसमें काल करने वाला व्यक्ति ओटीपी पूछता है और ओटीपी बताते ही खाते से राशि निकाल ली जाती है। किसी को न बताएं ओटीपी : एसपी

एसपी दीपक गहलावत ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे किसी भी स्थिति में ओटीपी किसी को न बताएं। यह एक नए प्रकार की धोखाधड़ी है। उन्होंने कहा कि साइबर ठगी से संबंधित शिकायतों के लिए सरकार द्वारा टोल फ्री नंबर 155260 जारी किया हुआ है। पीड़ित व्यक्ति इस नंबर पर काल कर शिकायत दर्ज करवा सकता है। इसके अलावा साइबरक्राइम डाट जीओवी डाट आइएन पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है।

Edited By: Jagran