जागरण संवाददाता, भिवानी : लघु सचिवालय स्थित कान्फ्रेंस हाल में उपायुक्त आरएस ढिल्लो की अध्यक्षता में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2021 से संबंधित विभागों के अधिकारियों की एक बैठक आयोजित हुई। बैठक में उपायुक्त ने सर्वेक्षण के तहत करवाए जा रहे कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे टारगेट निर्धारित करके कार्य पूरा करवाएं। उन्होंने नवंबर और दिसंबर में अलग-अलग टारगेट तय करने के निर्देश दिए।

उपायुक्त ढिल्लो ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2021 के अंतर्गत भारत सरकार मंत्रालय द्वारा नियुक्त एजेंसी द्वारा देशभर में 25 अक्टूबर से 23 दिसंबर के बीच जिले के गांवों में सफाई का सर्वे किया जाएगा। इस दौरान सर्वे टीम द्वारा ग्रामीणों से स्वच्छता के बारे में फीडबैक लिया जाएगा। निरीक्षण के दौरान गांव की गलियों के साथ-साथ सामुदायिक भवन, स्वास्थ्य केंद्र, मंदिर, धर्मशाला क्षेत्र आदि सार्वजनिक स्थलों की सफाई व्यवस्था जांची जाएगी। सर्वेक्षण के दौरान ग्रामीणों से यह भी पूछा जाएगा कि गांव में सफाई कैसे की जा रही है। कचरे का निष्पादन सहीं हो रहा है या नहीं। इसी प्रकार से गांव में करवाए जा रहे विकास कार्यों के बारे में रिपोर्ट ली जाएगी।

उपायुक्त ने कहा कि संबंधित अधिकारी इस अभियान के तहत गांवों में बनाए जा रहे ठोस कचरा प्रबंधन शेड, सोखता गड्ढे व सार्वजनिक शौचालय का निर्माण टारगेट निर्धारित कर पूरा करें। इसके साथ-साथ ग्रामीणों को साथ लेकर गांवों में सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त करवाएं। उन्होंने बताया कि ठोस व तरल कचरा प्रबंधन तथा स्वच्छता के विभिन्न घटकों के कुल 1000 अंक हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले की सभी ग्राम पंचायतों में अभियान चलाकर सामुदायिक भवनों में स्वच्छता सुनिश्चित करें। घर-घर जाकर स्वच्छता बनाए रखने के लिए प्रेरित करें। गांवों में नियमित रूप से सफाई होनी चाहिए। सफाई के प्रति ग्रामीणों को जागरूक किया जाए।

बैठक के दौरान जिला परिषद के सीईओ कुशल कटारिया ने स्वच्छ सर्वेक्षण के तहत करवाए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। जिला कार्यक्रम प्रबंधक सतीश नेहरा ने प्रोजेक्टर पर रिपोर्ट प्रस्तुत की। बैठक में एसडीएम भिवानी संदीप अग्रवाल, एसडीएम सिवानी ब्रह्मप्रकाश, एसडीएम लोहारू जगदीश चंद्र, एसडीएम तोशाम मनीष फौगाट आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran