मदन श्योराण, ढिगावा मंडी:

ढिगावा मंडी क्षेत्र शिक्षा के क्षेत्र में तो अग्रणी है ही, उसके साथ साथ हैं समाज को जागरूक करने का भी काम कर रहा है। जल बचाओ अभियान, बेजुबान पक्षियों के दाना पानी की बात हो, नशा मुक्ति अभियान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान आदि अनेकों कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर भाग लेते हैं। उसी कड़ी में क्षेत्र के दर्जनभर स्कूलों के 3500 विद्यार्थी घर-घर जाकर इस दीपावली को बिना पटाखे बनाने के लिए प्रेरित करेंगे।

जीनियस स्कूल, आर्य स्कूल, शिव स्कूल, दक्ष स्कूल, सर्वोदय स्कूल, आइडियल स्कूल सिघानी, एमडी स्कूल बरालू, डीआरएम स्कूल पहाड़ी, बीडीएम स्कूल, एचआरएम स्कूल अमीरवास के 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों ने प्रार्थना सभा में पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पटाखे न जलाने की शपथ ली। क्षेत्र में करीब 45 गांव के हजारों विद्यार्थी पढ़ने के लिए ढिगावा मंडी के दर्जनभर स्कूलों में शिक्षा ग्रहण करने के लिए आ रहे हैं।

आर्य स्कूल के उपप्राचार्य राजवीर ने बताया कि चकाचौंध से दूर हट कर साधारण दीपावली बनानी चाहिए, जिससे कि पर्यावरण को बचाया जा सके। इस मौके पर प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के ब्लॉक प्रधान राजेंद्र यादव, शिव स्कूल प्रिसिपल राजबाला शर्मा, एमडी स्कूल प्रिसिपल अनीता शर्मा, दक्ष स्कूल प्रिसिपल जोगेंद्र संगवान, संचालक वीरेंद्र मान, सर्वोदय स्कूल संचालक सुमेर लमोरिया, चरण सिंह श्योराण, चेयरमैन अशोक कुमार, रवि श्योराण, अशोक सांगवान सहित अनेकों स्कूल संचालकों ने विद्यार्थियों को इस मुहिम की अग्रिम बधाई दी।

कक्षा 11वीं का छात्र दीपक ने कहा कि पटाखे नहीं जलाने का संकल्प लिया है। इसके अलावा आसपास के लोगों को भी जागरूक करने का काम किया जाएगा। कक्षा 12वीं की छात्रा कविता का कहना है कि पटाखे नहीं जलाने हैं। सभी को जागरूक करने का काम करेंगी। हमें दूसरों की मदद करनी चाहिए। प्रदूषण रोकना है। कक्षा 10वीं का छात्र यस का कहना है कि पटाखों से प्रदूषण फैलता है। वायु और ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए पटाखों से दूरी बहुत जरूरी है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप