जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : एक तरफ दादरी शहर में गर्मी का कहर जारी है, आसमान से आग बरस रही है वहीं दूसरी तरफ लोग पेयजल के लिए भी तरस रहे हैं। घरों में पीने के पानी की कई कई दिनों तक सप्लाई नहीं हो रही है। जो पानी आता है वह भी काले पीले रंगे का पहुंच रहा है। जनस्वास्थ्य विभाग का कहना है कि नहरों से पानी नहीं आ रहा है। जिसके चलते पानी की किल्लत बनी है। पानी की सप्लाई ना होने से लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। उल्लेखनीय है कि दादरी शहर में पिछले काफी लंबे समय से पेयजल की समस्या बनी है। शहर की अधिकांश कालोनियों में पीने का दूषित पानी सप्लाई हो रहा है। घरों में पहुंचने वाला पानी काले पीले रंग का होता है जो पीने ही नहीं बल्कि किसी भी कार्य के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। लेकिन पिछले एक सप्ताह से यह दूषित पानी भी घरों तक नहीं पहुंच रहा है। कपूरी जलघर में पानी तलहटी तक पहुंच गया है। जिसके कारण इससे संबंधित घरों में पानी नहीं पहुंच रहा है। इसके अलावा चंपापुरी स्थित जलघर में भी काफी कम पानी शेष है। इस जलघर से संबंधित घरों में भी खारा पानी सप्लाई हो रहा है। जिसके कारण लोगों की परेशानियां काफी बढ़ गई हैं। रोजमर्रा के कार्य हो रहे प्रभावित

कई दिनों तक घरों में पानी नहीं पहुंचने के कारण लोगों को कई समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। पानी से होने वाले रोजमर्रा के कार्य नहीं हो पा रहे हैं। इसके अलावा पीने का पानी नहीं मिलने के कारण लोगों ने पानी खरीद कर प्यास बुझाई। इसके अलावा टैंकर मंगवा कर कपड़े, बर्तन, नहाने व पीने के पानी की आपूर्ति करनी पड़ी। भीषण गर्मी में बनी पेयजल किल्लत के कारण शहर के लोगों में जनस्वास्थ्य विभाग के खिलाफ रोष है। लोगों का कहना है कि शहर में पानी कमी से अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है वहीं विभाग के अधिकारी फोन नहीं उठा रहे हैं। नहरों में नहीं है पानी : एसडीओ

दादरी के सिचाई विभाग के एसडीओ ओमदत्त ने बताया कि नहरों में पानी नहीं है। जिसके कारण जलघरों तक पानी नहीं पहुंच पाया है। नहरों में पानी मंगवाने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बुधवार तक लोहारू कैनाल के माध्यम से जलघरों में पानी पहुंचा दिया जाएगा। एक दो दिन में पहुंचेगा पानी : जेई

दादरी के जनस्वास्थ्य विभाग के जेई सतमेंद्र ने कहा कि नहरों में पानी देर से पहुंचने के कारण जल घरों में पानी नहीं पहुंच पाया। जिसके कारण पेयजल की किल्लत पैदा हुई है। उन्होंने बताया कि एक दो दिन में पानी जलघरों तक पहुंच जाएगा। जिसके बाद शहर में बनी पेयजल की समस्या से निजात मिल जाएगी।

Edited By: Jagran