जागरण संवाददाता, चरखी दादरी :

चिकित्सकों के साथ हिसक घटनाओं के विरोध में शुक्रवार को दादरी जिले में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, आइएमए ने सांकेतिक हड़ताल करते हुए अपनी ओपीडी सेवाएं सुबह 9 से 2 बजे तक स्थगित रखी। इस दौरान केवल एमरजेंसी सेवाएं चालू रखी गई। उन्होंने उपायुक्त अमरजीत मान को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

जिला दादरी आइएमए के प्रधान डा. दीपक गुप्ता ने कहा कि चिकित्सकों पर बढ़ रही हिसक घटनाओं को लेकर कड़ा कानून बनाना चाहिए। इसके साथ ही लंबित मामलों के निपटारे के लिए फास्ट ट्रेक कोर्ट होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के चिकित्सकों ने कोरोना काल में अपनी जान की परवाह न कर लोगों का उपचार किया। उनके कुछ साथी इस दौरान कोरोना की चपेट में आकर जिदगी से जंग हार गए। फिर भी विभिन्न क्षेत्रों में चिकित्सकों के साथ हिसक घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। इसके विरोध में आइएमए ने केंद्रीय व राज्य आह्वान पर 18 जून को देशव्यापी विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया।

चिकित्सकों ने की दोषियों के खिलाफ की सख्त कार्रवाई की मांग

उपस्थित अन्य चिकित्सकों ने भी प्रत्येक अस्पताल की सुरक्षा के मानक बढ़ाने, अस्पतालों को सुरक्षित क्षेत्र घोषित करने, दोषियों के खिलाफ फास्ट ट्रेक अदालत में सुनवाई और उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलाने के प्रावधान की अपील की। ज्ञापन देने वालों में प्रधान डा. दीपक गुप्ता के अलावा डा. एचएल बेनीवाल, डा. किरण कादयान, डा. योगेंद्र देशवाल, डा. अरविद गर्ग, डा. अशोक गोयल, डा. महेश तायल, डा. इंद्रदीप, डा. सुशीला डागर, डा. गौरव भी शामिल रहे।

Edited By: Jagran