जागरण संवाददाता, भिवानी : जिले में आए दिन बैंक अधिकारी बनकर बैंक खाता नंबर और एटीएम कार्ड का नंबर पूछकर एकाउंट से रुपये निकालने के मामले सामने आ रहे हैं। मंगलवार को भी एक व्यक्ति ने बैंक अधिकारी बनकर स्वास्थ्य विभाग के एक रिटायर्ड अधिकारी के खाते से 49 हजार 500 रुपये निकाल लिए। चौंकाने वाली बात यह है कि उसे ठगी का एहसास तक नहीं हुआ। एसबीआइ की जयपुर ब्रांच से फोन आया तो उसे पता चला की उसके खाते से 49 हजार रुपये की नकदी साफ कर दी गई है। उसने मामले की शिकायत सिविल लाइन पुलिस थाने में दर्ज करवाई है।

पटेल नगर निवासी ईश्वर ने बताया कि वह सामान्य अस्पताल में अधीक्षक के पद पर कार्यरत थे। अब वहां से रिटायर्ड हो चुके हैं। ईश्वर ¨सह ने बताया कि उनका एकाउंट घंटाघर स्थित एसबीआइ बैंक में है। उसने बताया कि मंगलवार को उसके पास वेस्ट बंगाल से अशोक साहू नामक व्यक्ति का फोन आया। उसने अपने आपको एसबीआइ बैंक अधिकारी बताया। उसने कहा कि खाता आपका बंद होने वाला है, इसे अपडेट करना है। इसके बारे में डिटेल बताए। यह कहते हुए खाता संख्या, एटीएम पासवर्ड व ओटीपी नंबर ले लिया। उसके कुछ देर बाद ही जयपुर से दीपक शर्मा नामक व्यक्ति का फोन आया। उन्होंने बताया कि वह एसबीआइ क्राइम ब्रांच से है। किसी व्यक्ति ने तुम्हारे खाते से 49 हजार 500 रुपये निकाल लिए हैं। इस खाते को तुरंत बंद करवाएं। यह सूचना मिलते ही ईश्वर ¨सह ने बैंक पहुंच कर अपना खाता बंद करवाया। उसने मामले की शिकायत सिविल लाइन पुलिस थाने में की। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran