जागरण संवाददाता, भिवानी:

किसान आंदोलन तेजी से बढ़ रहा है। आंदोलन को तेज करने के साथ टिकरी बार्डर पर किसानों की संख्या बढ़ रही है। जिले में भी भारतीय किसान यूनियन किसानों से बातचीत कर रहे है। नीमड़ीवाली गांव में तो हर घर से एक व्यक्ति के किसान आंदोलन में जाने पर सहमति बनी। यह सहमति रविवार को गांव में हुई पंचायत में बनी। वहीं जिले के अन्य गांव ग्रामीण भी तेजी से आंदोलन में कूच कर रहे है। किसान यूनियन किसानों से संपर्क कर दिन प्रतिदिन आंदोलन में जाने के लिए बातचीत कर रहे है।

किसान आंदोलन के चलते 26 नवंबर को किसानों ने कूच किया था। किसान टिकरी बार्डर पर बैठे। भिवानी जिले के किसान ट्रैक्टर ट्राली के साथ अपने वाहनों से वहां पहुंच रहे है। आंदोलन की दिशा में ही गांव नीमड़ीवाली में रविवार को सूबेदार उमेद फोगाट व मिरसिंह सिंहमार की अध्यक्षता में गांव की पंचायत में सर्व सहमति से निर्णय लिया किया कि दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को पूरा गांव हर तरह से सहयोग करेगा।

भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रधान राकेश आर्य ने बताया कि किसान विरोधी तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर किसान ने दिल्ली कूच किया। उन्होंने कहा किसानों को समर्थन देने को लेकर गांव नीमड़ीवाली में पंचायत हुई, जिसमें पंचायत में सर्व सहमति से फैसला लिया गया कि गांव नीमड़ीवाली तन-मन-धन से किसानों के साथ है और गांव के प्रत्येक घर से एक सदस्य दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में भाग लेगा। प्रधान राकेश ने कहा कि सरकार का किसान के प्रति बहुत की खराब रवैया है ओर किसानों पर आंसू गैस व वाटर कैनन का प्रयोग निदनीय है। उन्होंने कहा कि किसानों को मजबूत करने लिए वे किसान आंदोलन में भागेदारी के लिए गांव कितलाना, अजीतपुर, ढाणा-लाडनपुर ओर ढाणा नरसाण के ग्रामीणों से मिले और उन्होंने भी आंदोलन में सहयोग देने लिए आश्वासन दिया। इस अवसर गांव नीमड़ीवाली के पूर्व सरपंच जागेराम, रघुवीर गिल, कुलबीर पंच, सत्ते पंच, अमोत पंच, पंच कर्मजीत सिंहमार, मांगेराम सिंहमार, पंच सतबीर गिल, अतर प्रजापत, बेद, रणधीर श्योराण, जगफुल बोहरा, सुरेश गिल, कुलदीप दहिया, सुरेंदर गिल, रविदत्त गिल धर्मराज व गांव के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे ।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप