जागरण संवाददाता, भिवानी : आदर्श महिला महाविद्यालय में मंगलवार को प्रतिभा खोज 2018 का आगाज बड़े ही जोर-शोर व धूमधाम से मनाया गया। जिसमें प्रथम एवं द्वितीय वर्ष की प्रतिभावान छात्राओं ने अपनी प्रस्तुति के माध्यम से श्रोतागण को मंत्रमुग्ध कर दिया। जिसमें पहले प्रतिभावान छात्राओं का ऑडिशन कला प्रेमी प्राध्यापिकाओं द्वारा किया गया। तदोपरान्त चयनित छात्राओं ने अपनी प्रतिभा का हुनर कार्यक्रम में प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में 2 मिनट की समयसीमा भी निर्धारित की गई थी। सम्पूर्ण कार्यक्रम संयोजिका रीना तनेजा जी की देख-रेख में बड़े ही प्रभावी ढं़ग से सम्पन्न हुआ। सांस्कृतिक कलाओं से अभिभूत, उत्कृष्ट कला पारखी एवं सामाजिक तौर पर प्रतिष्ठित महिलाओं का बतौर निर्णायक मंडल चयन किया गया। जिसमें उत्कृष्ट कला पारखी डॉ. पुष्पा शर्मा, महाविद्यालय की पूर्व संगीत विभागाध्यक्ष 'कला गुरु' सम्मानित नीटा चावला, जो लगातार 37 वर्षो तक महाविद्यालय में इतिहास पढ़ाने के साथ-साथ नृत्य विभाग व एनसीसी में अहम भूमिका निभाती रही और न केवल राज्य स्तर बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर छात्राओं को युवा महोत्सव में नृत्य प्रतियोगिताओं में इनाम हासिल करने के लिए मार्गदर्शन देती रही। भजन गायिका डॉ. कुलदीप सूद चिकित्सक होने के साथ-साथ नृत्य एवं गायन क्षेत्र से लगातार प्रतिभाओं को निखारती रही है। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डा. माया यादव ने छात्राओं को जीवन में शिक्षा के साथ-साथ अपनी संस्कृति के साथ जुड़े रहने की प्रेरणा दी व देश के लिए निरन्तर अग्रसर रहने के लिए प्रेरित किया। साथ ही मोबाइल के प्रयोग को लेकर छात्राओं का मार्ग प्रशस्त करते हुए कहा कि केवल महत्वपूर्ण कार्यो के लिए ही मोबाइल का प्रयोग करें व अपने बहुमूल्य समय को निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए लगाए और साथ ही छात्राओं से बहुमुखी प्रतिभा के धनी निर्णायक मंडल का विस्तृत परिचय कराया और कार्यक्रम की सफलता पर महाविद्यालय की टीम को बधाई देकर निर्णायक मंडल का धन्यवाद किया। द्वितीय वर्ष की 20 एवं प्रथम वर्ष की 29 छात्राओं ने कार्यक्रम में अपनी भागीदारी स्थापित की। जिसमें द्वितीय वर्ष से नृत्य कला में 9, गायन कला में 7 और एकल नाट्य कला में 3 प्रस्तुतियां दी गई। इसमें नृत्य कला में प्रथम शीतल, बीएससी, द्वितीय शालिनी, बीसीए तृतीय दीक्षा बीए, गायन कला में प्रथम आंचल, बीए, द्वितीय दीक्षा, बीए, तृतीय प्रियंका बीए से और सांत्वना पुरस्कार आशिमा, बीकॉम और एकल नाट्य कला में प्रथम आशु, बीएससी रही। जिसमें प्रथम वर्ष से नृत्य कला में 15, संगीत कला में 9 और एकल नाट्य कला में 5 प्रस्तुतियां दी गई। इसमें नृत्य कला में प्रथम पूजा सोनी बीकॉम, द्वितीय रीना और भारती बीए, तृतीय कनिका बीकॉम और सांत्वना पुरस्कार मुस्कान बीकॉम और मेघा बीए, संगीत कला में प्रथम रीना बीए, द्वितीय मोनू बीए, तृतीय कविता बीकॉम और एकल नाट्य कला में प्रथम अदम्या बीए, द्वितीय पूजा बीएससी रही। साथ एमएचआरडी भाग द्वारा प्रेषित अनेकता में एकता के तहत'एक भारत श्रेष्ठ भारत'पर आधारित लघु कथा का मंचन छात्राओं के सामने प्रस्तुत किया गया।

इस अवसर पर महाविद्यालय की युथ रेडक्रास सोसायटी के तत्वाधान मे केरल बाढ़ पीड़ितो की सहायतार्थ छात्राओं, शिक्षक और गैर-शिक्षक वर्ग से 2 लाख 10 हजार रुपये की राशि व प्रबंधकारिणी समिति ने 21 हजार रुपये की राशि एकत्रित कर प्राचार्या को सौंपी गई। इस अवसर पर महाविद्यालय की उपप्राचार्या डा. रजनी राघव, डा. इन्दु शर्मा, डा. अपर्णा बत्रा, डा. मधु मालती, नीरू चावला, ¨रकू अग्रवाल, निशा शर्मा, सचिन, डॉ. कविता शर्मा, मंजू जैन, हंसराज, डा. सुचेता सोनी, युक्ति, गायत्री आर्या सहित अन्य शिक्षक एवं गैर-शिक्षक वर्ग उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran