जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : भिवानी-रेवाड़ी रेलमार्ग पर मानहेरू व झाड़ली रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे लाइन दोहरीकरण व विद्युतीकरण का कार्य अंतिम चरण में है। इस बारे में दादरी रेलवे स्टेशन अधीक्षक सत्यवान लांबा ने बताया कि रेवाड़ी से कोसली तक का कार्य पूरा कर लिया गया है। शेष कोसली से मानहेरू तक का कार्य लारजन एंड टूल कंपनी को दिया गया है जिसे 60 से 70 घंटे में काम को पूरा करने को कहा गया है।। इसके अलावा स्थानीय लाइनों पर 15 से 20 घंटे तक का काम बचा है।

उन्होंने बताया कि विद्युतीकरण होने पर स्टेशन पर 24 घंटे बिजली उपलब्ध होगी। इसके लिए दो फीडर बनाए गए हैं जो 25 हजार किलोवाट बिजली उपलब्ध कराएंगे। स्टेशन पर 24 घंटे बिजली मिलने से एलाउंसमेंट के लिए भी कोई समस्या नहीं रहेगी। यात्रियों को भी बिजली संबंधी कोई असुविधा नहीं होगी। स्टेशन पर पेयजल के लिए बड़ी टंकी बनाने का भी प्रस्ताव है।

प्रोजेक्ट के लिए 400 करोड़ रुपये किया गया था अलॉट गौरतलब है कि पिछले माह भिवानी-रेवाड़ी रेलमार्ग के दोहरीकरण व विद्युतीकरण के कार्य का निरीक्षण करने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कमीशनर आफ रेलवे सेफ्टी वेस्टर्न सर्कल मुंबई सुशील चंद्रा दो दिवसीय दौरे पर आए थे। उस दौरान रेलवे प्रशासन द्वारा दादरी रेलवे स्टेशन पर विभिन्न अधिकारियों की देखरेख में तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया श्रमिकों द्वारा विद्युतीकरण के लिए तारों की जांच तथा दोहरीकरण के चलते पटरियों को भी दुरूस्त किया गया। रेल विकास निगम लिमिटेड द्वारा इस पूरे प्रोजेक्ट में रेवाड़ी से मानहेरू स्टेशन तक रेलवे दोहरीकरण, विद्युतीकरण के साथ ही कोसली व दादरी स्टेशन पर फुट ओवर ब्रिज, कर्मचारियों के लिए क्वार्टर का निर्माण होना भी शामिल है। इस प्रोजेक्ट के लिए करीब 400 करोड़ रुपये का बजट अलॉट किया गया है। इस प्रोजेक्ट में रेवाड़ी से झाड़ली तक का कार्य पहले ही पूरा कर लिया गया था। अब झाड़ली से मानहेरू तक के हिस्से का काम तत्परता से किया जा रहा है। कार्य पूरा होने और निरीक्षण में सब कुछ दुरुस्त मिलने पर यहां आवागमन शुरू कर दिया जाएगा।

ट्रैनों को मिलेगी रफ्तार उल्लेखनीय है कि भिवानी से मानहेरू तक रेल ट्रैक पर पहले से ही दोहरीकरण व विद्युतीकरण के कार्य को पूरा किया जा चुका है। अब जल्द ही रेवाड़ी से मानहेरू लाइन पर यह कार्य पूरा होने तथा मंजूरी मिलने के बाद इस ट्रैक पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा तक की रफ्तार से ट्रेनों को चलाया जा सकेगा।

यात्रियों को होगा फायदा अक्सर देखा जाता है कि ¨सगल लाइन होने के कारण कई रेलवे स्टेशन पर क्रा¨सग के चलते ट्रेनों का काफी देर तक ठहराव हो जाता है। जिससे यात्रियों को अपने गंतव्य की तरफ पहुंचने में देर हो जाती है। लेकिन अब लाइन दोहरीकरण होने से क्रा¨सग की समस्या से निजात मिल सकेगी। जिससे यात्री भी समय पर अपने गंतव्य पर पहुंच सकेंगे। ऐसे में लोगों को भी काफी फायदा होगा।

Edited By: Jagran