जागरण संवाददाता, भिवानी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना का शुभारंभ कर 11 लाख 51 हजार लाभार्थियों तक 13 करोड़ 58 लाख 31 हजार 918 रुपए की धनराशि सीधे पेंशन खातों में ट्रांसफर की। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि हम सभी एक ऐतिहासिक पल के साक्षी बने हैं। आज 3 लाख से ज्यादा कॉमन सर्विस सेंटर पर दो करोड़ से ज्यादा लोग इस कार्यक्रम के भागीदार बने हैं। स्थानीय पंचायत भवन में प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन पेंशन योजना के उद्घाटन समारोह का सीधा प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम के दौरान सांसद धर्मबीर सिंह, भिवानी के विधायक घनश्याम सर्राफ, भाजपा जिलाध्यक्ष नंदराम धानिया व भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ठा. विक्रम सिंह उपस्थित रहे और कार्यक्रम का सीधा प्रसारण देखा तथा लाभार्थियों को पंजीकरण कार्ड भी वितरित किए। सीधे प्रसारण में पीएम मोदी ने कहा कि आज प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना आप सभी के लिए, देश के लगभग 42 करोड़ श्रमिकों, कामगारों की सेवा में समर्पित है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि अब देशभर में संगठित क्षेत्र के कर्मकारों को भी पेंशन का लाभ मिलेगा। देशभर में 15 फरवरी 2019 से प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना लागू की गई है। इस योजना के तहत 60 वर्ष की आयु पूरी करने वाले कर्मकारों को तीन हजार रुपए मासिक पेंशन का लाभ मिलेगा। ये ले सकते हैं लाभ

इस योजना में गृह आधारित कर्मकार, गली में फेरी लगाने वाले, मध्याह्न भोजन कर्मकार, सिर पर बोझा उठाने वाले, ईंट भट्टा कर्मकार, मोची, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कर्मकार, धोबी, रिक्शा चालक, ग्रामीण भूमिहीन श्रमिक, ऑन अकाउंट कर्मकार, कृषि कर्मकार, सन्निर्माण कर्मकार, बीड़ी कर्मकार, हथकरघा कर्मकार, चमड़ा कर्मकार, ²श्य-श्रव्य कर्मकार के रूप में एवं ऐसे ही अन्य व्यवसायों में कार्य करने वाले शामिल हैं।

ये है योजना

18 वर्ष की आयु में प्रार्थी प्रतिमाह अंशदान 55 रूपए देगा व केंद्र सरकार भी 55 रूपए अंशदान देगी। इस प्रकार से कुल 110 रूपए का अंशदान की किश्त जमा हो जाएगी। इसी तरह 40 वर्ष की आयु तक 200-200 रूपए का अंशदान हो जाएगा। इस योजना के लिए प्रार्थी जितना अंशदान करेंगे, उतना ही अंशदान केंद्र सरकार का होगा। उन्होंने बताया कि 60 वर्ष की आयु होने के पश्चात कर्मकार इस योजना के अधीन प्रत्येक लाभपात्र न्यूनतम तीन हजार रूपए मासिक पेंशन प्राप्त करेगा। इस योजना के लिए आयु 18 से 40 वर्ष के बीच व मासिक आमदनी 15 हजार रूपए से कम होनी चाहिए। इस योजना के लिए आधार कार्ड, बैंक पास बुक व जन धन खाता संख्या के साथ आइएफएससी कोड व मोबाइल नंबर इत्यादि दस्तावेज जरूरी हैं। कर्मकारों को सीएससी पर अपना पंजीकरण करवाना होगा। यदि पेंशन प्राप्त करने वाले किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है तो उसके पति या पत्नी आधी पेंशन की हकदार होगी। सीएससी सेंटरों पर 15 से होगा पंजीकरण

15 फरवरी से सीएससी सेंटर पर पंजीकरण शुरू हो गया है। पात्र कर्मकार वहां पर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। कार्यक्रम के दौरान पेंशन के लिए पात्र श्रमिकों का पंजकरण किया गया और उनको कार्ड प्रदान किए गए।

ये थे मौजूद

इस मौके पर भाजपा जिला मीडिया प्रभारी सोनू सैनी, भाजपा युवा अध्यक्ष पवन ठाकुर, पार्षद मुकेश रहेजा, प्रदीप प्रजापती, सुनील वर्मा नंबरदार, ज्ञान गुलाटी, रामकिशन शर्मा, जोगेंद्र कड़वासरा, विशाल सिंह, अधिवक्ता जोगेंद्र, अक्षय बलारा, विजय शर्मा, जगदीश मिताथल, संदीप बडेसरा, सीएससी संचालक नवीता रानी सहित अनेक अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran